Monday , December 18 2017

मांझी व पासवान का कुनबा साफ

पटना : बिहार एसेम्बली इंतिख़ाब में कई बड़े लीडरों के बेटों को भी हार का सामना करना पड़ा है। हालांकि आरजेडी चीफ लालू के दोनों बेटे-तेज प्रताप यादव महुआ से और तेजस्वी यादव राघोगढ़ से इंतिख़ाब जीत गए हैं। सबसे बुरा हाल तो लोजपा सदर रामविलास पासवान के कुनबे का हुआ। भाई, भतीजा, दामाद और पतोहू सबके सब इंतिख़ाब हार गए। पासवान के अनुज और पार्टी के रियासती सदर पशुपति कुमार पारस, भतीजा प्रिंस राज, दामाद अनिल कुमार, मृणाल और पतोहू सविता पासवान को लोगों ने एसेम्बली नहीं भेजा। इधर, राजद सदर लालू प्रसाद के बेटे तेजस्वी और तेज प्रताप इंतिख़ाब जीत गए। कभी राजद व जदयू के कद्दावर लीडर रहे शिवानंद तिवारी के बेटे राहुल तिवारी (राजद) भी इंतिख़ाब जीत गए। एक दौर में शेरे बिहार के नाम से मशहूर मरहूम रामलखन सिंह यादव के पोता जयवर्द्धन कांग्रेस के टिकट पर इंतिख़ाब जीत गए।

बिहार बीजेपी के बड़े लीडर अश्विनी चौबे के बेटे अरजीत शाश्वत भागलपुर से इंतिख़ाब हारे। बीजेपी के सीनियर लीडर सीपी ठाकुर के बेटे विवेक ठाकुर बक्सर की ब्रह्मपुर सीट से इंतिख़ाब हारे। जीतनराम मांझी के बेटे कुटुबां सीट से इंतिख़ाब हार गए। वहीं, एनडीए लीडरों में गंगा प्रसाद के बेटे संजीव चौरसिया को छोड़कर बाक़ी सीनियर लीडरों के अहले खाना को हार का मुंह देखना पड़ा।

साबिक़ वजीरे आला डॉ जगन्नाथ मिश्र के बेटे नीतीश मिश्र कम वोटों के फर्क से हारे। डॉ मिश्र के मरहूम ललित नारायण मिश्र के बेटे संजय मिश्र और पोता ऋषि मिश्र इंतिख़ाब हार गए। ऋषि के वालिद विजय कुमार मिश्र जदयू के विधान पार्षद हैं। ऋषि 2014 के एसेम्बली जिमनी इंतिख़ाब में जाले से जीते थे। साबिक़ वजीरे आला जीतनराम मांझी खुद एक सीट पर जीते। दूसरे पर हारे। दामाद देवेंद्र मांझी और बेटा संतोष सुमन इंतिख़ाब हार गए। भाजपा के बड़े लीडर गंगा प्रसाद के बेटा संजीव चौरसिया को जीत हासिल हुई। राजद सांसद शैलेश कुमार उर्फ बुलो मंडल की बीवी वर्षा रानी, साबिक़ वज़ीर राजेंद्र राय की बेटे की बहू जया यादव इंतिखाब जीत गईं। केवटी में एमपी हुकुमदेव नारायण यादव के बेटे अशोक यादव इंतिख़ाब हारे। इस सीट पर साबिक़ मरकज़ी वज़ीर अली अशरफ फातमी के बेटे फराज फातमी जीते।

हारने वालों में हम सेक्युलर के रियासती सदर शकुनी चौधरी और उनके बेटे राकेश चौधरी, साबिक़ एमपी प्रभुनाथ सिंह के बेटे रणधीर सिंह, कांग्रेस के दिग्गज मरहूम राजो सिंह के पोते सुदर्शन, साबिक़ एमपी जगदीश शर्मा के एमएलए बेटे राहुल शर्मा, साबिक़ एमपी लवली आनंद, श्रीबाबू के परपोता अनिल शंकर व परनाती अमृतेश्वर आनंद शामिल हैं। वहीं, प्रभुनाथ सिंह के भाई केदारनाथ सिंह, साबिक़ एमएलए मरहूम आनंद मोहन की बीवी अनिता देवी व साबिक़ वज़ीर रामदास राय के भाई मुंद्रिका राय इंतिख़ाब जीत गए।

 

TOPPOPULARRECENT