Wednesday , December 13 2017

माइनारिटी स्कालरशिप के ख़िलाफ़ हुकूमत गुजरात की सुप्रीम कोर्ट में अपील

नई दिल्ली, 8 मई: (पी टी आई) अक़्ल्लीयती तबक़ात से ताल्लुक़ रखने वाले तलबा-ए-के लिए मर्कज़ी प्री मैट्रिक स्कालरशिप के ख़िलाफ़ अपील के बावजूद हुकूमत गुजरात को सुप्रीम कोर्ट से आज भी कोई उबूरी राहत नहीं मिल सकी। ताहम अदालत-ए-उज़्मा ने रियासती

नई दिल्ली, 8 मई: (पी टी आई) अक़्ल्लीयती तबक़ात से ताल्लुक़ रखने वाले तलबा-ए-के लिए मर्कज़ी प्री मैट्रिक स्कालरशिप के ख़िलाफ़ अपील के बावजूद हुकूमत गुजरात को सुप्रीम कोर्ट से आज भी कोई उबूरी राहत नहीं मिल सकी। ताहम अदालत-ए-उज़्मा ने रियासती हुकूमत की अपील पर जल्द समाअत करने का फ़ैसला किया है।

रियासती हुकूमत ने गुजरात हाइकोर्ट के एक फ़ैसला को चैलेंज किया था क्योंकि अदालत-ए-आलिया ने अक़्लीयती तलबा के लिए मरकज़ की प्री मैट्रिक स्कालरशिप को दस्तूरी तौर पर जायज़ क़रार दिया था। जस्टिस पी सथासीवम और एम वाई इक़बाल पर मुश्तमिल एक बेंच ने हुकूमत गुजरात के इस इस्तिदलाल पर मरकज़ से जवाब तलब किया है कि ये स्कीम इमतियाज़ पर मबनी है।

सुप्रीम कोर्ट ने अगस्त के पहले हफ़्ते से हुकूमत गुजरात की इस दरख़ास्त पर बाक़ायदा समाअत शुरू करने का फ़ैसला किया है। बेंच ने कांग्रेस के लीडर आदम चाकी को भी नोटिस जारी की है जिनकी मुफ़ाद-ए-आम्मा के मुताल्लिक़ एक दरख़ास्त पर हाइकोर्ट की पाँच रुकनी दस्तूरी बेंच ने दो के मुक़ाबला तीन से सादर करदा अपने फ़ैसला के ज़रीया हुकूमत गुजरात के इस इस्तिदलाल ( दलील) को मुस्तरद कर दिया था कि मरकज़ की स्कीम इम्तियाज़ पर मबनी है और हिदायत की थी कि गुजरात में अक्लीयती तलबा को स्कालरशिप की फ़राहमी से मुताल्लिक़ मर्कज़ी स्कीम को रूबा अमल लाया जाये। मरकज़ी हुकूमत की जानिब से मुसलमानों के बिशमोल 5 मज़हबी अक़्लीयतों (Minority/ अल्प संख्यक) से ताल्लुक़ रखने वाले ऐसे तलबा को स्कालरशिप्स फ़राहम किए जाते हैं जिन के वालदैन की सालाना आमदनी एक लाख रुपये से कम है।

TOPPOPULARRECENT