Thursday , January 18 2018

माइनारीटीज कामों पर पार्लीमेंट्री स्टेडिंग कमेटी बनाने का मुतालिबा

* 15 नकाती प्रोग्राम पर असरदायक अमल बहुत जरूरी, मुस्लिम पार्लीमेंट सदस्यों की प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से नुमाइंदगी

* 15 नकाती प्रोग्राम पर असरदायक अमल बहुत जरूरी, मुस्लिम पार्लीमेंट सदस्यों की प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से नुमाइंदगी
हैदराबाद । (सियासत न्यूज़) मुख़्तलिफ़ सियासी जमातों की नुमाइंदगी करने वाले 25 मुस्लिम सदस्य‌ पार्लीमेंट‌ ने आज मर्कज़ी वुज़रा ग़ुलाम नबी आज़ाद और फ़ारूक़ अबदुल्लाह की क़ियादत में प्रधानमंत्री से मुलाक़ात की और महकमा वज़ारत माइनारीटीज‌ उमूर पर पार्लीमेंट्री स्टैंडिंग कमेटी बनाने का मुतालिबा किया ।

उन्हों प्रधानमंत्री के 15 नकाती फार्मूले पर असरदायक‌ अमल केलिए राज्य सरकारों को हिदायत देने की अपील की प्रधानमंत्री डाक्टर मनमोहन सिंह ने मुस्लिम मुस्लिम पार्लीमेंट सदस्यों के मुतालिबात और तजावीज़ पर हमदर्दाना ग़ौर करने का यकिन‌ दिया ।

कांग्रेस के रुकन राज्य सभा मिस्टर एम ए ख़ान ने दिल्ली से सियासत न्यूज़ को बताया कि तमाम मुस्लिम मुस्लिम पार्लीमेंट सदस्यों ने प्रधान मंत्री को मुस्लिम मस्लों पर संजीदगी का मुज़ाहरा करने और इस को हल करते हुए मुस‌लमानों की ज़रूरियात को पूरा करने पर ज़ोर दिया ।

उन्हों ने कहा कि वफ़द ने वज़ीर-ए-आज़म को मुस‌लमानों को दरपेश मुख़्तलिफ़ मसलों के इलावा 15 नकाती प्रोग्राम पर असरदायक0 अमल नाहोने से भी वाक़िफ़ कराया। वफ़द ने बताया कि मुख़्तलिफ़ मौज़ूआत और तबक़ात के मस्लों का जायज़ा लेने के लिए पार्लीमेंट्री स्टैंडिंग कमेटियां मौजूद हैं जिन का बाज़ाबता इजलास मुनाक़िद होता है । मस्लों को हल करने का जायज़ा लिया जाता है और तजावीज़ पेश की जाती है जो मर्कज़ी काबीना और हुकूमत के पास पहूँचती हैं, मुल्क में मुस‌लमान सब से बड़ी अक़लियत है और इस के इलावा दूसरी अक़ल्लीयतें भी हैं जिन के मसाइल को हल करने केलिए पार्लीमैंट्री स्टैंडिंग कमेटी की बनाना वक़्त का तक़ाज़ा है ।

साथ ही वज़ीर-ए-आज़म के 15 नकाती प्रोग्राम पर कोई अमल नहीं होरही है जबकि हर तीन माह एक मर्तबा वज़ीर-ए-आज़म को प्रोग्राम्स पर अमल से मुताल्लिक़ रिपोर्ट रवाना करना ज़रूरी है । रियासतों के चीफ सेक्रेटरी और जिलों कलेक्टर दोनों की तरफ‌ से कोई मिटींग नही बुलाइ जारही है । कलेक्टर और चीफ सेक्रेटरी के दरमियान 15 नकाती फार्मूला पर अमल करने के ताल्लुक़ से कोई ताल मेल नहीं और ना ही मिटींगें बुलाइ जा रहि है ।

मुस्लिम पार्लीमेंट सदस्यों ने वज़ीर-ए-आज़म से अपील की कि जिस तरह वज़ारत देही तरक्कियात‌ में कामों का जायज़ा लेने के लिए मॉनीटरिंग‍ ओर‌-वेजलनस कमेटियां बनाते हुए हर ज़िला का लोक सभा के रुकन पार्लीमेंट को सदर और राज्य सभा के रुकन पार्लीमेंट‌ को नायब सदर बनाया गया है इसी तर्ज़ पर वज़ीर-ए-आज़म के 15 नकाती फार्मूले पर अमल करने के लिए पार्लीमेंट सदस्यों पर मॉनीटरिंग कमेटियां बनाएं।

मर्कज़ी वज़ारत माइनारीटीज‌ उमूर के लिए खास किये गए फंड्स के इस्तिमाल ना होने और बजट सरकारी खज़ाने में वापिस होने पर तमाम मुस्लिम पार्लीमेंट सदस्यों ने चिंता जाहिर‌ करते हुए माइनारीटीज‌ उमूर का प्लान और नान प्लान बजट मंज़ूर करने का मुतालिबा किया ताकि बजट को मुकम्मल तरीके से इस्तिमाल किया जा सके। प्लानिंग कमीशन की तरफ‌ से माइनारीटिज‌ उमूर के बजट में बढोतरी करने की सिफ़ारिश करने का ख़ैर मक़द्दम करते हुए इस पर अमल करने पर ज़ोर दिया।

TOPPOPULARRECENT