Wednesday , August 15 2018

माउंट एवेरेस्ट के मददगार बलंद तरीन चोटी सर करने में मशग़ूल

खटमंडू

खटमंडू

माउंट एवेरेस्ट सतह समुंद्र से 8848 मीटर बुलंद है और ये दुनिया की बलंद तरीन चोटी है। इस हफ़्ते दुनिया भर के कोह पैमा दुनिया के सब से बुलंद पहाड़ की चोटी सर करने के लिए अपनी जान पर खेल कर बर्फ़ीली चट्टानों से गुज़र रहे हैं। कोह पैमाई के लिए ख़ुशगवार मौसम के इस मुख़्तसर से वक़फ़े में मानसून की आमद से क़बल कई सौ कोह पैमा एवेरेस्ट को सर करने की उम्मीद कर रहे हैं।

गुज़िश्ता साल पेश आने वाले वाक़ियात अभी लोगों के ज़हन से महव नहीं हुए होंगे। एवेरेस्ट सतह समुंद्र से 8848 मीटर की बुलंदी पर है। एवेरेस्ट को पहली बार कामयाबी के साथ न्यूज़ीलैंड के कोह पैमा सर एडमनड हिलरी और शरपा तन ज़ंग नारगे ने 29 मई 1953-ए-में फ़तह किया था।

इस के बाद से अब तक चार हज़ार से ज़्यादा अफ़राद इस चोटी को सर कर चुके हैं। 2013 में 658 अफ़राद एवेरेस्ट को फ़तह करने में कामयाब रहे थे। अब तक दुनिया के इस बलंद तरीन चोटी को सर करने की कोशिश में 200 से ज़्यादा अफ़राद हलाक हो चुके हैं। गुज़िश्ता साल 18 अप्रैल को बर्फ़ के तूदे खिसकने से 16 शरपा हलाक हो गए थे। ये वाक़िया उस वक़्त पेश आया था जब वो एवेरेस्ट के दामन में खंबो ग्लेशीयर पर रहनुमाई के लिए रस्सियां नसब कर रहे थे।

TOPPOPULARRECENT