Sunday , December 17 2017

माओनवाज़ लीडर का पुलिस के हाथों अग़वा !

हैदराबाद14मार्च: वरनगल सेंट्रल जेल से रिहा एक माओइस्ट क़ाइद सौमया का पुलिस ने मुबयना तौर पर अग़वा करलिया। सादा लिबास में मलबूस पुलिस ने जेल से रिहा क़ाइद को एक कार मे ज़बरदस्ती नामालूम मुक़ाम पर मुंतक़िल कर दिया गया। बावसूक़ ज़राए

हैदराबाद14मार्च: वरनगल सेंट्रल जेल से रिहा एक माओइस्ट क़ाइद सौमया का पुलिस ने मुबयना तौर पर अग़वा करलिया। सादा लिबास में मलबूस पुलिस ने जेल से रिहा क़ाइद को एक कार मे ज़बरदस्ती नामालूम मुक़ाम पर मुंतक़िल कर दिया गया। बावसूक़ ज़राए के मुताबिक़ आज रात तक़रीबन सात बजे ये वाक़िया पेश आया।

सौमया जिन की उम्र 30साल बताई गई है। उन्हें उस वक़्त गिरफ़्तार करलिया गया जब वो अपने वुकला के हमराह थे। इस वाक़िये की आंध्र प्रदेश सिविल लिबर्टीज़ कमेटी ने सख़्त मुज़म्मत की है और सौमया की सलामती पर ख़ौफ़ का इज़हार किया है। रियास्ती नायब सदर ए पी सी एलसी एडवोकेट सुरेश कुमार ने अपने बयान मे बताया कि कमेटी को इस बात का ख़ौफ़ है कि पुलिस इस का इनकाव‌नटर करेगी।

चंद पुलिस मुलाज़मीन ये कहते हुए कि उन्हें वीनकटा पुर के सर्किल इन्सपैक्टर ने रवाना किया है वे सौमया को ज़बरदस्ती अपने साथ ले लिया और अमलन अग़वा करते हुए पुलिस उन्हें अपनी नामालूम मुक़ाम पर ले गई।

ए पी सी एलसी ने मुतालिबा किया है कि सौमया को फ़ौरी तौर पर अदालत मे पेश किया जाये।उन्हों ने अफ़सोस का इज़हार करते हुए कहा कि सौमया की इस तरह गिरफ़्तारी ये तीसरी मर्तबा है। उन्हें खम्मम और कुत्ता गडीम की जेल से रिहाई के बाद गिरफ़्तार करते हुए माख़ूज़ कर दिया गया था।

सौमया माओइस्ट तंज़ीम से वाबस्तगी और सरगर्मीयों के इल्ज़ाम मे मुक़द्दमात का सामना कररहे हैं।

TOPPOPULARRECENT