Saturday , January 20 2018

माओवादियों का फरमान, खाली करो गांव

औरंगाबाद : मदनपुर ब्लाक के जुनुबी इलाके में पहाड़ों की तलहटी में बसे पचरुखिया गांव को नक्सली तंज़ीम भाकपा-माओवादी ने खाली करने का फरमान जारी किया है। नक्सलियों के फरमान से गांव के लोग दहशत में हैं।

कल तक जिन चेहरों पर पुलिस की तरफ से बुनियादी सहलात हासिल होने की खुशी झलक कर रही थी, वह नक्सली फरमान से गायब हो गयी है। माओवादियों ने गांववालों को वार्निंग दी है कि पुलिस की मदद लेना भारी पड़ेगा। उन्हें जल्द ही गांव खाली करके जाना होगा।

इस सिलसिले में एसपी बाबूराम ने कहा कि नक्सली फरमान का असर पचरुखिया गांव के बहादुर लोगों पर नहीं पड़ेगा। गांव के लोगों की सिक्यूरिटी पुलिस-इंतेजामिया की जवाबदेही है। हर सख्श की सिक्यूरिटी की जायेगी। एसपी ने यह भी कहा है कि जिस गांव का पुलिस ने तरक्की के लिए सलेक्शन किया है, वहां के लोगों को डरने की जरूरत नहीं है। वैसे भी गांव में पुलिस के जवानों को तैनात कर दिया गया है।

गुजिश्ता 10 फरवरी को पचरुखिया गांव में सामुदायिक पुलिसिंग सर्विस के तहत कैंप लगा कर पचरुखिया व लंगुराही गांव के लोगों में कपड़े समेत दीगर जरुरी सामान की तकसीम किया गया था। इस दौरान एसपी बाबूराम भी मौजूद थे। पानी के लिए गांव में बोरिंग कर चापाकल लगाया गया है।

पुलिस के जवानों ने गाँव वालों की मदद से कुछ ही दिन में गांव तक सड़क बना दिया है। पचरुखिया गांव में इन सहुलातों को शुरू हुए अभी कुछ ही दिन हुए कि नक्सली तंजीम भाकपा-माओवादी ने यहां के लोगों को गांव खाली करने को कहा है।

 

TOPPOPULARRECENT