Monday , December 18 2017

माओवादियों ने 22 को बंद बुलाया

भाकपा माओवादी की बंगाल, झारखंड, ओड़िशा बॉर्डर रिजनल कमेटी की तरफ से राकेश जी ने केंदू पत्ता के कीमत में इजाफे की मांग को लेकर 22 अप्रैल को सरहदी इलाका बंद का एलान किया है। बंद से जरूरी सर्विस आज़ाद रहेंगी। प्रेस रिलीज़ में कहा गया है क

भाकपा माओवादी की बंगाल, झारखंड, ओड़िशा बॉर्डर रिजनल कमेटी की तरफ से राकेश जी ने केंदू पत्ता के कीमत में इजाफे की मांग को लेकर 22 अप्रैल को सरहदी इलाका बंद का एलान किया है। बंद से जरूरी सर्विस आज़ाद रहेंगी। प्रेस रिलीज़ में कहा गया है कि केंदू पत्ता और दीगर पैदावार में 20 फीसद कीमत इजाफे की मुतालिबात को लेकर माओवादी तंजीम मुश्तईल है। इसका फाइदा गाँव वालों को मिल रहा है।

प्रेस रिलीज़ में कहा गया है कि झारखंड हुकूमत , ममता हुकूमत और नवीन पटनायक हुकूमत के ओहदेदार, जंगल महकमा और ठेकेदार पुलिस की मदद से जंगल में पैदावार में 20 फिसद इजाफा को रोकने की कोशिश कर रहे है।

जमीन तहवील अराजी के नाम पर किसानों को बेदखल की कोशिश

प्रेस रिलीज़ में राकेश जी ने कहा कि मेक इन इंडिया के नाम पर सनअति तरक़्क़ी और ज़िराअत हब बनाने के नाम पर जमीन तहवील अराजी लाया गया है। किसान को उसकी ही जमीन से बेदखल करने की मंसूबा रियासत और मरकज़ी हुकूमत ने बनायी है। 68 साल से यूपीए और एनडीए हुकूमत चला रही है, लेकिन आवाम और किसानों के लिए कुछ नहीं किया।

TOPPOPULARRECENT