Tuesday , December 12 2017

माज़ूर अरुणिमा ने किया एवरेस्ट फतह

जमशेदपुर 22 मई : दो साल पहले बरेली में चलती ट्रेन से धक्का दिये जाने की वजह अपना एक पैर गंवा चुकी कौमी सतह की वॉलीबॉल खिलाड़ी अरुणिमा सिन्हा (26 साल) दुनिया की सबसे ऊंची पहाड़ी चोटी एवरेस्ट (29029 फीट) पर चढ़ गयी हैं। वह एवरेस्ट फतह करनेवाल

जमशेदपुर 22 मई : दो साल पहले बरेली में चलती ट्रेन से धक्का दिये जाने की वजह अपना एक पैर गंवा चुकी कौमी सतह की वॉलीबॉल खिलाड़ी अरुणिमा सिन्हा (26 साल) दुनिया की सबसे ऊंची पहाड़ी चोटी एवरेस्ट (29029 फीट) पर चढ़ गयी हैं। वह एवरेस्ट फतह करनेवाली मुल्क की पहली माज़ूर पर्वतारोही बन गयी हैं। अरुणिमा ने मंगल सुबह 10.55 बजे एवरेस्ट पर तिरंगा फहराया। अरुणिमा के साथ गये सरायकेला-खरसावां के सुसेन महतो दो दिन पहले ही एवरेस्ट पर पहुंचे थे। अरुणिमा सिन्हा और सुसेन ने 29 अप्रैल से अपने मुहीम की शुरुआत की थी।

भाई ने दिया हौसला : बुनयादी तौर पर उत्तर प्रदेश के आंबेडकर नगर की रहनेवाली अरुणिमा को एवरेस्ट फतह के लिए उनके भाई ओमप्रकाश ने हौसला दिया। एवरेस्ट पर चढ़नेवाली पहली खातून बछेंद्री पाल ने उनका हौसला बढ़ाया। बछेंद्री पाल के रहनुमाई में उन्होंने एवरेस्ट पर तिरंगा लहराने में कामयाबी पायी। इससे पहले बछेंद्री पाल ने उत्तरकाशी में उन्हें तरबियत दिया था। अरुणिमा और उनकी टीम को टाटा स्टील ने पूरा तावुन दिया। इस मुहीम पर करीब 50 लाख रुपये खर्च हुए। जिसका वहन टाटा स्टील ने किया।

TOPPOPULARRECENT