Friday , December 15 2017

मानव में बे क़ाईदगियों के ख़िलाफ़ एहतिजाज(विरोध‌) में शिद्दत

मौलाना आज़ाद नैशनल यूनीवर्सिटी एक तालीमी इदारा होने की वजहा से यूनीवर्सिटी में जारी बे क़ाईदगियों के ख़िलाफ़ संजीदा एहतिजाज(विरोध‌) करने को तर्जीह दी जा रही थी मगर यूनीवर्सिटी ज़िम्मे दारान के रवैय्या और उर्दू यूनीवर्सिटी के क़ियाम

मौलाना आज़ाद नैशनल यूनीवर्सिटी एक तालीमी इदारा होने की वजहा से यूनीवर्सिटी में जारी बे क़ाईदगियों के ख़िलाफ़ संजीदा एहतिजाज(विरोध‌) करने को तर्जीह दी जा रही थी मगर यूनीवर्सिटी ज़िम्मे दारान के रवैय्या और उर्दू यूनीवर्सिटी के क़ियाम के अग़राज़ वमक़ासद के तहफ़्फ़ुज़ केलिए एहतिजाज(विरोध‌) में शिद्दत और यूनीवर्सिटी इंतिज़ामीया की आमिराना रवैय्या के ख़िलाफ़ पर तशद्दुद एहतिजाज(विरोध‌) करना ज़रूरी दिखाई दे रहा है

साबिक़ा(पिछ्ले) राज्य सभा जनाब सय्यद अज़ीज़ पाशाह मानव ऐक्शण कमेटी की तरफ‌ से मुनाक़िद(र्खा गया) इजलास(मिटींग‌) से उन ख़्यालात का अज़हा कररहे थे सदर नशीन कमेटी-ओ-जनरल सैक्रेटरी सूफ़ी एकेडेमी मौलाना सय्यद तारिक़ कादरी ऐडवोकेट कन्वीनर कमेटी वासटीट जनरल सैक्रेटरी तंज़ीम इंसाफ़ कामरेड नुसरत मुही उद्दीन क़ाइद तलगुदेशम एम ए हकीम डाँक्टर अबदुल हक़ कनोन‌र एस सी एस टी मुस्लिम फ्रंट सना उल्लाह ख़ान कामरेड एस ए मन्नान कामरेड मुनीर पटेल मुहम्मद ज़हीर और दीगर भी मौजूद थे ।

अज़ीज़ पाशा ने मौलाना आज़ाद नैशनल उर्दू यूनीवर्सिटी में जारी बे क़ाईदगियों के ख़िलाफ़ आग़ाज़(शुरुआत‌) करदा मानौ ऐक्शण कमेटी के एहितजाजी(विरोध‌) लायेहा-ए-अमल में तबदीली लाने पर ज़ोर देते हुए कहाकि मर्कज़ी वज़ीर पोरनदीशोरी और यूनीवर्सिटी चांसलर सय्यदा हमीदा के माह अक्टूबर के मुजव्वज़ा हैदराबाद और मौलाना आज़ाद नैशनल यूनीवर्सिटी के दौरे के मौके पर मानौ ऐक्शण कमेटी यूनीवर्सिटी में जारी धांदलियों के मुताल्लिक़ तफ़सीली यादवा शत पेश करेगी।उन्हों ने कहाकि 16अक्टूबर को ऐक्शण कमेटी का वफ़द मर्कज़ी(केंद्र‌) वज़ीर पुरनदेशवरी से मुलाक़ात करेंगें।

सदर ऐक्शण कमेटी मौलाना सय्यद तारिक़ कादरी ने मानव इंतिज़ामीया के आमिराना रवैय्या और उर्दू के मुताल्लिक़ ग़ैर संजीदगी पर शदीद ब्रहमी का इज़हार करते हुए कहाकि यवीनोरसटी में ग़ैर उर्दू दां तबक़ा की अजाराह दारियां यूनीवर्सिटी के माहौल को मुतास्सिर करने का काम कररही हैं उन्हों ने मज़ीद कहाकि यूनीवर्सिटी इंतिज़ामीया की हिट धर्मियों के सबब उर्दू दां तबक़ा रोज़गार से महरूम होरहा है ।

उन्हों ने यूनीवर्सिटी तलबा की तरफ‌ से यूनीवर्सिटी तलबा यूनीयन की तशकील के ऐलान का ग़ैर मुक़द्दम करते हुए कहाकि अहाता यूनीवर्सिटी में उर्दू ज़बान के तहफ़्फ़ुज़ को यक़ीनी बनाने और अहाता यूनीवर्सिटी में जारी मुख़र्रिब अख़लाक़ हरकतों को रोकने के लिए यूनीवर्सिटी तलबा तंज़ीम का क़ियाम निहायत ज़रूरी है इस के अलावा उन्होंने मुस्तक़बिल(भविष्य‌) क़रीब में ऐक्शण कमेटी तरफ‌ से पर तशद्दुद एहितजाजी(विरोध‌) लायेहा-ए-अमल तर्तीब किए जाने का भी इस मौके पर ऐलान किया है।

TOPPOPULARRECENT