Friday , November 24 2017
Home / Delhi / Mumbai / मानसून के सामान्य होने के बावजूद उत्पादन में कमी

मानसून के सामान्य होने के बावजूद उत्पादन में कमी

मुंबई: भारत में उत्पादन क्षमता का विश्लेषण करने वाले फर्म एंड। रॉ ने अपनी पहले की गई पेश क़ियासी यानी 7.9 प्रतिशत दर उत्पादन को वापस लेकर अब इस साल देश के सकल उत्पादन दर 7.7 प्रतिशत होने का संकेत दिया है। देश में औद्योगिक विकास की गति में कमी के कारण उत्पादन क्षमताओं में भी मंदी पाई जा रही है। मानसून के सामान्य से बेहतर होने की पेश क़ियासी के कारण कृषि उत्पादन में सुधार की संभावना के बावजूद औद्योगिक उत्पादन के बेहतर होने की संभावना नहीं है।

इंडिया रेटिंग्स एंड रिसर्च सेंटर ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि औद्योगिक उत्पादन में सुधार के लिए आवश्यक है कि सरकार के कदम को प्रभावी बनाना चाहिए। अगर सरकार ने अच्छा कदम जैसे ” मेक इन इंडिया ‘डिजिटल इंडिया, स्टार्टअप इंडिया, स्टांड अप इंडिया की शुरूआत की है मगर इसका पर्याप्त लाभ प्राप्त नहीं हो रहे हैं।

उत्पादक कौशल मफकोद दिखाई दे रही हैं। मौसम विभाग ने इस साल 94% बेहतर मानसून की उम्मीद जताई है। इससे सामान्य से बेहतर बारिश होगी जबकि इस साल बारिश के प्रतिशत में एक फीसदी की गिरावट आई थी। अगर मानसून अनुसार कृषि विभाग जाए तो कृषि उत्पादन में वृद्धि हो सकती है।

TOPPOPULARRECENT