Monday , December 18 2017

मानसून में ताख़ीर से हाईडल बर्क़ी प्लांट का अभी धरुआर नहीं

ए पी जेनको सिरी सेलम और नागर जना सागर ज़ख़ीरा आब में पानी के बहाव में कमी के सबब हाईडल बर्क़ी पैदावारी प्लांट को शुरू करने से क़ासिर है । एन ज़ख़ाइर आब में पानी अदम दस्तयाबी मानसून में ताख़ीर का सबब है ।

ए पी जेनको सिरी सेलम और नागर जना सागर ज़ख़ीरा आब में पानी के बहाव में कमी के सबब हाईडल बर्क़ी पैदावारी प्लांट को शुरू करने से क़ासिर है । एन ज़ख़ाइर आब में पानी अदम दस्तयाबी मानसून में ताख़ीर का सबब है ।

इस वजह से रियासत में बर्क़ी पैदावार सूरत-ए-हाल मुतास्सिर हुई है जब कि 40 मिलियन यूनिट्स हाईडल बर्क़ी पैदावार का ख़सारा पेश आया है । ए पी ट्रांस्को के मुताबिक़ जून के पहले हफ़्ता मैं राइलसेमा में मानसून के सरगर्म होने की बात बताई गई

ताहम 8 जून के बाद राइलसेमा में मानसून सरगर्म हुए हैं जब कि ज़रई शोबा में पानी की सरबराही की शदीद तलब बताई गई है । हाईडल बर्क़ी प्लांट बशमोल निज़ाम सागर , पोचम पॉड , सिरी सेलम , नागर जना सागर में वाक़ै है ।।

TOPPOPULARRECENT