Tuesday , December 19 2017

मायावती के भाई के खिलाफ हाईकोर्ट में दरखास्त

इलाहाबाद, 08 फरवरी: उत्तर प्रदेश की साबिक वज़ीर ए आला मायावती के भाई आनंद कुमार के कम अर्से में बेशुमार दौलत हासिल कर लेने का मामला हाईकोर्ट पहुंच गया है। मुफाद ए आम्मा की दरखास्त दाखिल कर मायावती के भाई आनंद कुमार के कारोबार की जांच

इलाहाबाद, 08 फरवरी: उत्तर प्रदेश की साबिक वज़ीर ए आला मायावती के भाई आनंद कुमार के कम अर्से में बेशुमार दौलत हासिल कर लेने का मामला हाईकोर्ट पहुंच गया है। मुफाद ए आम्मा की दरखास्त दाखिल कर मायावती के भाई आनंद कुमार के कारोबार की जांच सीबीआई और इंफोर्समेंट डायरेक्ट्रेट (Enforcement directorate) से कराने की मांग की गई है।

इल्ज़ाम है कि उन्होंने रियल स्टेट बिजनेस और पचास के करीब कंपनियों में करोड़ों की सरमायाकारी कुछ साल के अंदरून ही कर लिया। 2007 से पहले उनकी आमदनी बेहद मामूली थी। मायावती के वज़ीर ए आला बनने के बाद आनंद को हुकूमत की तरफ से बिला वास्ता तौर पर फायदा पहुंचाया गया। पांच हफ्ते के बाद समाअत होगी।

दिनेश सिंह यादव की तरफ से दाखिल दरखास्त पर उनके वकील पवन भारद्वाज ने कहा कि आनंद कुमार ने रियल स्टेट के कारोबार में 7.50 करोड़ रुपया सरमायाकारी किए है। 2007 के बाद उन्होंने 49 कंपनियां कायम कर ली। इनका करोबार 750 करोड़ रुपये के करीब है। ये कंपनियां कौन सा कारोबार कर रही हैं इसकी जांच की जानी चाहिए।

दरखास्त पर सुनवाई कर रही चीफ जस्टिस शिवकीर्ति सिंह और जस्टीस दिलीप गुप्ता की बेंच ने कहा कि दरखास्तगुज़ार (Petitioner) अपनी मांग के ताल्लुक में पहले सीबीआई और इंफोर्समेंट डायरेक्ट्रेट (Enforcement directorate) को काउंटर स्टेटमेंट दे।

इसके पांच हफ्ते के बाद दरखास्तगुज़ार (Petitioner) कोर्ट को इजाफी हलफनामा दाखिल कर बताए कि इस दौरान क्या कार्रवाई की गई।

TOPPOPULARRECENT