मायावती ने अखिलेश पर साधा निशाना, अखिलेश को सपनों में भी हाथी परेशान करते होंगे

मायावती ने अखिलेश पर साधा निशाना, अखिलेश को सपनों में भी हाथी परेशान करते होंगे
Click for full image

लखनऊ : संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अंबेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस के मौके पर आयोजित रैली में बसपा प्रमुख मायावती ने यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर निशाना साधा |उन्होंने कहा अखिलेश यादव दलित नेताओं और मूर्तियों पर गलत बयान देने वाले यूपी के सीएम सच में बबुआ हैं|

उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव मूर्तियों पर सवाल उठाकर महापुरुषों का अपमान कर रहे हैं| मायावती ने कहा कि अखिलेश हाथी पर बयान देकर बसपा का प्रचार कर रहे हैं| अखिलेश को सपनों में भी हाथी परेशान करते होंगे|  उन्होंने कहा कि आपके नेताओं की मूर्तियां खड़ी नहीं रहतीं? ऐसी बाते करने वाला सच में बबुआ है | अखिलेश मूर्तियों पर सवाल उठाकर महापुरुषों का अपमान कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि धार्मिक अल्पसंख्यक अंबेडकर की वजह से ही सुरक्षित हैं।अंबेडकर ने धार्मिक समानता के आधार पर हमारे संविधान का प्रारूप बनाया था| उन्होंने कहा कि बीजेपी हिंदुत्व के आधार पर समाज को विभाजित करने की कोशिश कर रही है| बीजेपी राज में सिर्फ कंगाली और फकीरी ही मिलेगी |बीजेपी ने लोकसभा इलेक्शन में किए वादों को आज तक पूरा नहीं किया है|बीजेपी को बाबा का संविधान पसंद नहीं है| बीजेपी और आरएसएस के लोग देश में जातिवादी वर्ण व्यवस्था को लागू करना चाहते हैं|

गौरतलब है कि अखिलेश ने सोमवार को बसपा प्रमुख मायावती पर हमला बोलते हुए कहा था कि पत्थर वाली सरकार ने सिर्फ हाथी लगवाएं, लेकिन लोग हाथी देखने की बजाए बोट पर बैठ रहे हैं| पत्थर वाली सरकार ने हमसे पहले कोई काम नहीं किया, जो भी काम दिख रहा है वह सब हमने किया है|मायावती ने अखिलेश को जवाब देते हुए कहा कि मेरी सरकार ने जो डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के स्मारक लगाए हैं उन्हें देखने हजारों की संख्या में लोग आते हैं|  सैफई महोत्सव के लिए समाजवादी सरकार गरीबों का पैसा बेदर्दी से खर्च करती है, उससे तो कोई आय भी नहीं होती।”

Top Stories