Sunday , January 21 2018

मालेगांव धमाका केस की मुंतक़ली मुंसिफ़ाना

मर्कज़ी हुकूमत ने 2008 के मालेगांव बम धमाका केस में तहक़ीक़ात को क़ौमी तहक़ीक़ाती एजेंसी के हवाले करने के फ़ैसले को मुंसिफ़ाना क़रार दिया।

मर्कज़ी हुकूमत ने 2008 के मालेगांव बम धमाका केस में तहक़ीक़ात को क़ौमी तहक़ीक़ाती एजेंसी के हवाले करने के फ़ैसले को मुंसिफ़ाना क़रार दिया।

उसने मुंबई हाइकोर्ट से कहा कि पार्लियामेंट मुल्क के किसी भी हिस्से में कार्रवाई करने के लिए क़ानून ला सकता है। विज़ारत-ए-दाख़िला ने हाइकोर्ट में दाख़िल किये गये अपने हलफ़नामे में कहा कि मर्कज़ी हुकूमत को ये इख़तियार हासिल है कि वो कोई भी क़ानून या तहक़ीक़ात का काम किसी भी एजेंसी के हवाले कर सकता है।

साध्वी प्रज्ञासिंह ठाकुर ने दरख़ास्त दाख़िल की थी जिसके जवाब में मर्कज़ ने ये हलफ़नामा पेश किया है।

TOPPOPULARRECENT