Saturday , November 18 2017
Home / Khaas Khabar / मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी ने कहा – ‘जमानत में RSS का दखल नहीं’

मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी ने कहा – ‘जमानत में RSS का दखल नहीं’

2008 मालेगांव बम धमाकों के मामले में आरोपी रमेश उपाध्याय, जो कि जमानत प्राप्त कर चुका है, ने दावा किया कि उनके खिलाफ और कुछ अन्य सह-आरोपी के खिलाफ मामला कमजोर था और इसलिए उन्हें फंसाया गया था और उन्हें मुक्त कर दिया गया। उन्होंने सुझावों को खारिज कर दिया कि उनकी जमानत आरएसएस या “हिंदुत्व सेना” द्वारा “हस्तक्षेप” का परिणाम थी।

उपाध्याय, एक सेवानिवृत्त भारतीय सेना मेजर, ने कहा कि इस मामले में पूर्व विशेष सरकारी अभियोजक रोहिणी सालियन ने आरोप लगाया था कि 2014 में सत्ता में नरेन्द्र मोदी सरकार के आने के बाद से राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने उन्हें नरम बताया है।

सालियन ने यह दावा 2015 में इंडियन एक्सप्रेस को एक विशेष साक्षात्कार में किया था। बाद में उसे मामले में बदल दिया गया था। उपाध्याय को सितंबर में जमानत मिल गई।

उपाध्याय ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, “मैं रोहिणी सालियन का सम्मान करता हूं जो भी उसने किया या कहा, उसने उसे अपने कर्तव्य के भाग के रूप में किया। हम सभी (आरोपी) निर्दोष हैं। राज्य विरोधी आतंकवादी दस्ते (एटीएस) ने हमें गलत गिरफ्तार कर लिया। बाद में जांच के बाद एनआईए ने पाया कि इस मामले में सबूत कमजोर है। जांच अधिकारी किस मामले को सरकारी अभियोजक को बताएगा कि मामला कमजोर साक्ष्य पर आधारित है? जाहिर है, जांचकर्ता सार्वजनिक अभियोजक को नरम करने के लिए कहेंगे।”

TOPPOPULARRECENT