Wednesday , January 17 2018

माशूका के घरवालों ने आशिक को जिंदा जला डाला

सरायममरेज थाना इलाके के पिलखिनी गांव में एक नौजवान को उसकी माशूका के खानदान वालों ने हाथ-पैर बांधकर जिंदा जला दिया |ज़राये के मुताबिक , फौतशुदा नौजवान की मां चीख-चीखकर बेटे के कातिलों का नाम ले रही है, लेकिन पुलिस कार्रवाई के बजाए आग

सरायममरेज थाना इलाके के पिलखिनी गांव में एक नौजवान को उसकी माशूका के खानदान वालों ने हाथ-पैर बांधकर जिंदा जला दिया |ज़राये के मुताबिक , फौतशुदा नौजवान की मां चीख-चीखकर बेटे के कातिलों का नाम ले रही है, लेकिन पुलिस कार्रवाई के बजाए आगजनी का मामला बताकर इस कत्ल को दबाने में जुटी है | फौतशुदा नौजवान की मां अपने बेटे के कत्ल के लिए पड़ोस के गांव के कुछ लोगों को जिम्मेदार ठहरा रही है |

ज़राये के मुताबिक, पिलखिनी गांव की साकिन सरिता देवी के बेटे गोलू (18) को मंगल की शाम हाथ-पैर बांधकर जिंदा जला दिया गया | एक कारखाने में काम करने वाली सरिता जब मंगल की शाम घर लौटी तो, बेटे के मौत की इतेला मिली | सरिता देवी के शौहर भोला मिश्रा का कुछ अरसा पहले ही इंतेकाल हुआ है |

गांव वालों के मुताबिक , शाम को अचानक गोलू की चीख सुनाई पड़ने लगी | गांव के लोग जब वहां पहुँचे तो देखा कि गोलू आग की लपटों से घिरा था, उसके हाथ-पैर बंधे थे | गांव वाले 100 नंबर पर फोन करते रहे, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला |

गाँव वालों ने जब 108 नंबर पर फोन मिलाया तो, कुछ देर बाद ऐंबुलेंस पहुंची | गांव वालों के मुताबिक, गोलू की मां चीख-चीखकर कह रही थी कि उसके बेटे को जलाकर मारा गया है | बताया जा रहा है गोलू की पड़ोस की गांव की एक लड़की से दोस्ती थी | उसी लड़की के घरवालों ने गोलू को घर के अंदर हाथ-पैर बांधकर जिंदा जला दिया |

वहीं जिले के एसएसपी उमेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि इस मामले में अगर कोई खाती पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी |

TOPPOPULARRECENT