Tuesday , December 19 2017

मास्टर अबूसुफ़ियान की सरकर्दगी में कराटे ग्रुप की वतन वापसी

हैदराबाद, 16 नवंबर (प्रैस नोट) इंटरनैशनल शनडोकाई कान नीदरलैंड कराटे कलब के ज़ेर-ए-एहतिमाम एम्सटर्डम से 25 कीलोमीटर के फ़ासले पर शहर सटारड में 29 और 30 अक्टूबर को कराटे वर्ल्ड कप के मुक़ाबले मुनाक़िद किए गई। यूरोप में कराटे के ये पहले बैन-उ

हैदराबाद, 16 नवंबर (प्रैस नोट) इंटरनैशनल शनडोकाई कान नीदरलैंड कराटे कलब के ज़ेर-ए-एहतिमाम एम्सटर्डम से 25 कीलोमीटर के फ़ासले पर शहर सटारड में 29 और 30 अक्टूबर को कराटे वर्ल्ड कप के मुक़ाबले मुनाक़िद किए गई। यूरोप में कराटे के ये पहले बैन-उल-अक़वामी मुक़ाबले हुए जिस में दुनिया भर से 45 ममालिक के 500 से ज़्यादा कराटे मास्टर्स और करा टीकाज़ लड़के-ओ-लड़कीयों ने हिस्सा लिया। शनडोकाई कान गोल्डन डरागन कलब चंदरायन गट्टा के तर्बीयत याफ़ता लड़कों ने भी इन बैन-उल-अक़वामी मुक़ाबलों में हिस्सा लिया। मास्टर अबूसुफ़ियान ब्लैक बेल्ट कोच की सरकर्दगी में 28 अक्टूबर को हैदराबाद से एम्सटर्डम रवाना होने वाला ग्रुप मुक़ाबलों में शिरकत के बाद वतन वापिस होचुका है।

TOPPOPULARRECENT