Wednesday , June 20 2018

माज़ूर तलबा से ज़ाइद फ़ीस वसूल करने का इल्ज़ाम

नई दिल्ली, १८ अक्टूबर (पी टी आई) दिल्ली हाइकोर्ट ने आज शहरी हुकूमत से इस बात की ख़ाहिश की है कि इस दरख़ास्त का मुनासिब जवाब दाख़िल किया जाय जिस में एक ख़ानगी ( निजी) स्कूल इंतिज़ामीया पर ये इल्ज़ाम आइद किया गया है कि दीगर(दूसरे)आम तलबा क

नई दिल्ली, १८ अक्टूबर (पी टी आई) दिल्ली हाइकोर्ट ने आज शहरी हुकूमत से इस बात की ख़ाहिश की है कि इस दरख़ास्त का मुनासिब जवाब दाख़िल किया जाय जिस में एक ख़ानगी ( निजी) स्कूल इंतिज़ामीया पर ये इल्ज़ाम आइद किया गया है कि दीगर(दूसरे)आम तलबा के मुक़ाबले माज़ूर तलबा (अपाहिज/मजबूर छात्रों) से ज़ाइद ( ज़्यादा) फ़ीस वसूल की जा रही है।

चीफ़ जस्टिस डी मोरो गणेश और जस्टिस राजीव सहाय पर मुश्तमिल ( सम्मिलित) एक बंच ने हुकूमत दिल्ली के डायरेक्टोरेट आफ़ एजूकेशन और ख़ानगी ( निजी) स्कूल भारतीय विद्या भवन, महित विद्यालय को भी नोटिस जारी किया है और उन्हें 21 नवंबर तक अपने जवाबात दाख़िल करने की हिदायत की गई है।

सियोल राईट्स सोसायटी सोश्यल ज्यूरिस्ट की जानिब से दाख़िल करदा मफ़ाद-ए-आम्मा ( लोक हित/ जन कल्याण) की एक दरख़ास्त की समाअत ( सुनवायी) के बाद अदालत ने ये हुक्म जारी किया जिस में मज़कूरा ( उक़्त) बाला स्कूल पर इल्ज़ाम आइद किया गया था कि वो माज़ूर तलबा के साथ रियायत करने की बजाय आम तलबा के मुक़ाबले उन से ज़ाइद फ़ीस वसूल कर रही है।

TOPPOPULARRECENT