Thursday , December 14 2017

मिनिस्टर्स क्वार्टर्स और वीदीवत सुधा पर एहतिजाज

हैदराबाद।२३ अगस्त (सियासत न्यूज़) किसानों को सात घंटे बर्क़ी सरबराही का मुतालिबा करने वाले अरकान असैंबली की गिरफ़्तारी के ख़िलाफ़ बतौर-ए-एहतिजाज टी आर ऐसकारकुनों ने आज मिनिस्टर्स क्वार्टर्स और वदीअत सुधा का घीराव‌ किया। दोनों

हैदराबाद।२३ अगस्त (सियासत न्यूज़) किसानों को सात घंटे बर्क़ी सरबराही का मुतालिबा करने वाले अरकान असैंबली की गिरफ़्तारी के ख़िलाफ़ बतौर-ए-एहतिजाज टी आर ऐसकारकुनों ने आज मिनिस्टर्स क्वार्टर्स और वदीअत सुधा का घीराव‌ किया। दोनों मुक़ामात पर पुलिस और टी आर ऐस कारकुनों में झड़प हुई जिस में कई कारकुन ज़ख़मी हुई। टी आरऐस रुकन असैंबली के टी रामा राव‌ की क़ियादत में सैंकड़ों कारकुनों ने मिनिस्टर्स क्वार्टर्स का घीराव‌ किया।

पुलिस कार्रवाई में कारकुनों समेत ख़ुद रामा राव‌ मामूली ज़ख़मी होगई। दोनों मुक़ामात पर पुलिस ने एहितजाजियों को गिरफ़्तार करलिया। हुकूमत और चीफ़ मिनिस्टर के ख़िलाफ़ नारे लगाते हुए टी आर इसके कारकुन , मिनिस्टर्स क्वार्टर्स पहूंचे जहां पुलिस ने उन्हें आगे बढ़ने से रोक दिया। इस मरहले पर कशीदगी पैदा होगई और पुलिस ने गिरफ़्तारी का आग़ाज़ कर दिया।

के टी रामा राव‌ और सिटी के टी आर ऐस क़ाइदीन को पुलिस ने हिरासत में ले लिया और वहां से मुंतक़िल करदिया। बाद में उन्हें रिहा करदिया गया। मीडीया के नुमाइंदों से बातचीत करते हुए के टी रामा राअ ने अरकान असैंबली की गिरफ़्तारी को गै़रक़ानूनी क़रार दिया और कहा कि टी आर ऐस अरकान असैंबली ने अवामी मसाइल केलिए अपनी गिरफ़्तारी पेश की तो दूसरे रियास्ती वुज़रा मुक़द्दमात से बचने केलिए चीफ़ मिनिस्टर के दफ़्तर के चक्क्र काट रहे हैं।

उन्हों ने इल्ज़ाम आइद किया कि किरण कुमार रेड्डी की क़ियादत में आंधरा प्रदेश अंधेरा प्रदेश में तबदील होचुका है और बर्क़ी शोबा की कारकर्दगी बेहतर बनाने में हुकूमत नाकाम हो चुकी है। उन्हों ने कहा कि शहरी और देही इलाक़ों में बर्क़ी कटौती के नफ़ाज़ से ये बात साबित हो चुकी है कि रियासतमें बर्क़ी का बोहरान है और टी आर उसका मौक़िफ़ दरुस्त साबित हुआ।

उन्हों ने कहा कि पुलिस के ज़रीया टी आर इसके एहतिजाज को कुचलने की कोशिश की जा रही है। तलंगाना के तमाम अज़ला में बर्क़ी की अबतर सूरत-ए-हाल है और किसान एहतिजाज पर मजबूर हो चुके हैं।

रियास्ती हुकूमत को तलंगाना के प्रोजेक्ट्स में कोई दिलचस्पी नहीं। उन्हों ने चीफ़ मिनिस्टर से मुतालिबा किया कि अगर वो महिकमा बर्क़ी के क़लमदान को बेहतर तौर पर निमटने में नाकाम हैं तो उन्हें ये क़लमदान किसी और के तफ़वीज़ करना चाहिए। रामा राॶ ने हुकूमत से मांग की कि वो मौजूदा बोहरान से निमटने केलिए मर्कज़ से ज़ाइदबर्क़ी के हुसूल की कोशिश करी। टी आर उसके दो अरकान असैंबली को जेल में रखने की मुज़म्मत करते हुए रामा राव‌ ने कहा कि उन्हें दहश्तगरदों के अंदाज़ में गिरफ़्तार किया गया जो इंतिहाई ग़ैर जमहूरी है ।

अवामी नुमाइंदों के साथ हुकूमत का ये रवैय्या है तो उसे आम आदमी की क्या फ़िक्र होगी। उन्हों ने कहा कि सरकारी दफ़ातिर में बर्क़ी का गै़रज़रूरी इस्तिमाल होता है लिहाज़ा इस पर पाबंदी आइद की जानी चाआई। उन्हों ने चीफ़ मिनिस्टर से मुतालिबा किया कि वो तलंगाना के प्रोजेक्ट्स और आंधरा प्रदेश को ज़ाइद बर्क़ी की सरबराही के लिए मर्कज़ से नुमाइंदगी करें।

TOPPOPULARRECENT