मिशन काकतीया प्रोग्राम पर अपोज़ीशन की तन्क़ीदें गैर ज़रूरी

मिशन काकतीया प्रोग्राम पर अपोज़ीशन की तन्क़ीदें गैर ज़रूरी

वज़ीरे आबपाशी हरीश राव ने हुकूमत की जानिब से बड़े पैमाने पर शुरू कर्दा मिशन काकतीया प्रोग्राम पर अपोज़ीशन की तन्क़ीदों को ग़ैर ज़रूरी क़रार दिया। अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए हरीश राव ने कहा कि तारीख़ी झीलों और तालाबों के तहफ़्फ़ुज़ के लिए हुकूमत ने इस प्रोग्राम का आग़ाज़ किया है ताकि रियासत को ख़ुश्कसाली से बचाया जा सके।

झीलों और तालाबों के तहफ़्फ़ुज़ के ज़रीए आबपाशी के लिए पानी सैराब करने में मदद मिलेगी और हुकूमत को बड़े प्रोजेक्ट पर इन्हिसार कम हो जाएगा। उन्हों ने बी जे पी सदर किशन रेड्डी की जानिब से मिशन काकतीया को मिशन गुलाबी क़रार देने पर तन्क़ीद की।

किशन रेड्डी ने इल्ज़ाम आइद किया था कि इस प्रोग्राम के ज़रीए टी आर एस क़ाइदीन और कारकुनों को फ़ायदा पहुंचाने की कोशिश की जा रही है। हरीश राव ने कहा कि इस प्रोग्राम के बारे में अवाम में शकूको शुबहात पैदा करना मुनासिब नहीं है।

Top Stories