Friday , April 27 2018

मिस्टर रमेश को असेंबली सदस्य से बर्खास्त करने का मुतालिबा

* टीआरएस लीडर अपने हलक़ा से ग़ायब, स्पीकर असेंबली से पूनम प्रभाकर की शिकायत

* टीआरएस लीडर अपने हलक़ा से ग़ायब, स्पीकर असेंबली से पूनम प्रभाकर की शिकायत
हैदराबाद / (सियासत न्यूज़) कांग्रेस के एमपी पूनम प्रभाकर ने आज असेंबली स्पीकर से मुलाक़ात की और वीमलवाड़ा की नुमाइंदगी करने वाले टीआरएस के असेंबली सदस्य‌ मिस्टर रमेश की रुकनीयत खत्म करने का मुतालिबा किया कि वो लोगों के दरमयान ना रह कर जर्मनी में अपना वक़्त गुज़ार रहे हैं।

असेंबली स्पीकर एन मनोहर ने लोगों नुमाइंदा के लोगों के दरमयान ना रहने पर चिंता ज़ाहिर करते हुए शिकायत का जायज़ा लेने के बाद ज़रूरी कार्रवाई का यकिन‌ दिया। लोक सभा करीमनगर की नुमाइंदगी करने वाले मिस्टर पूनम प्रभाकर ने आज असेंबली पहुंच कर असेंबली स्पीकर से मुलाक़ात और लिखीत‌ शिकायत की।इस के बाद मीडीया से बातचीत करते हुए उन्हों ने कहा कि लोगों कि तरफ से चुने गये नुमाइंदों को लोगों का ख़िदमतगुज़ार होना चाहीए, लेकिन‌ मिस्टर रमेश अपनी ज़िम्मेदारीयों से भागते हुए जर्मनी में वक़्त गुज़ार रहे हैं।

उन्हों ने कहा कि लोग‌ अपने मस्लो के हल‌ और बुनियादी सहुलतें हासिल करने यक़ीनी बनाने के लिए असेंबली ओर पार्लीमेंट सद्स्यों को चुनते हुए उन्हें एवानों में रवाना करते हैं। पिछ्ले तीन बरसों के दौरान 147 दिन असेंबली कि सभाएं हुइं, जिस में टीआरएस के असेंबली सदस्य‌ की हाज़िरी 10 फ़ीसद भी नहीं है।

एसे नुमाइंदो से किया फ़ायदा जो लोगों का दुख दर्द नहीं बांट सकता, इसलिये एसे लोगों को असेंबली की रुकनीयत पर बाकि रहने का अख़लाक़ी नहीं है।
असेंबली स्पीकर‌ मिस्टर एन मनोहर ने कहा कि उन्हें वीमलवाड़ा असेंबली सदस्य के ख़िलाफ़ मुताल्लिक़ा एमपी के ज़रीये लिखीत‌ शिकायत मिली है। खत‌ में लिखे चंद निकात पढ़ कर उन्हें काफ़ी तकलीफ़ हुई है।लोगों का नुमाइंदा मुंतख़ब होने के बाद लोगों कि ख़िदमत ना करना अफ़सोसनाक है। वो शिकायत का जायज़ा लेकर इस पर ज़रूरी कार्रवाई करेंगे।

TOPPOPULARRECENT