Saturday , November 25 2017
Home / Featured News / मिस्री अदालत में मर्सी को उम्र क़ैद की पुष्टि

मिस्री अदालत में मर्सी को उम्र क़ैद की पुष्टि

क़ाहिरा: मिस्र की एक अदालत ने मिस्र के शासित राष्ट्रपति मुहम्मद मर्सी के ख़िलाफ़ एक मुक़द्दमे में दी गई उम्र क़ैद की सज़ा को आज जायज़ क़रार दिया। इस‌ मुक़द्दमे को क़तर जासूसी मुक़द्दमा भी कहा जाता है। मिस्र  की सर्वोच्च अदालत ने पूर्व राष्ट्रपति मर्सी की एक अपील खारिज कर दी और कहा कि अदालती रोलिंग गलती और एक अविश्वनीय चुनौती है जिस पर कोई अपील नहीं की जा सकती।

अदालत ने इस मुक़द्दमे में इख़्वान उल मुसलमीन के तीन प्रमुख मुस्लिम सदस्यों को दी गई सज़ा की पुष्टि की है। मिस्र में उम्र क़ैद की मुद्दत 25 साल होती है। मर्सी को अपना राष्ट्रपति पद इस्तेमाल करते हुए खु़फ़ीया दस्तावेजों को बेचने के लिए दोषी और कतर के आधिकारिक रहस्यों का उपयोग करते हुए उस के टेलीविज़न चैनल अल-जज़ीरा को कुछ‌ खु़फ़ीया दस्तावेज़ बेचने के जुर्म का दोषी ठहरा दिए जाने के बाद जून 2016 में उम्र क़ैद की सज़ा दी गई थी ।

कथित तौर पर प्रकाशित दस्तावेजों में सशस्त्र बलों और सरकारी नीति के रहस्यों के बारे में सामान्य और सैन्य खुफिया जानकारी शामिल होती है जिनके आम होने पर सामान्य सुरक्षा को ख़तरा हो सकता था। इस अदालत ने पिछले साल अक्टूबर में मर्सी को 2012 के दौरान राष्ट्रपति महल के क़रीब जनता को हिंसा पर उकसाने का जुर्म साबित होने पर 20 साल क़ैद की पुष्टि भी की थी।

TOPPOPULARRECENT