मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति हुस्नी मुबारक को अदालत ने दिया रिहाई का आदेश

मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति हुस्नी मुबारक को अदालत ने दिया रिहाई का आदेश
Click for full image

मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति हुस्नी मुबारक को एक अदालत ने रिहा करने का आदेश दिया है। अरब मीडिया के रिपोर्टों के मुताबिक, पूर्वी काहिरा की एक अदालत ने मुबारक को रिहा करने का आदेश दिया है। उन पर साल 2011 की क्रांति के दौरान प्रदर्शनकारियों के जनसंहार कराने का आरोप था।

स्थानिय मीडिया के अनुसार न्यायाधीश अहमद अब्दुल कवी की बेंच ने दो मार्च को अपने एक आदेश में कहा था कि क्रांति के दौरान जनता के जनसंहार में हुस्नी मुबारक की कोई भूमिका नहीं थी।

इसके अलावा अदालत ने मुबारक के विरुद्ध नागरिक मामलों पर फिर से सुनवाई के लिए जनसंहार में मार गए लोगों के परिजनों की याचिका को भी रद्द कर दिया। इसके बाद मुबारक के विरुद्ध मामले पर फिर से सुनवाई करने की संभावना समाप्त हो गई।

गौरतलब है कि 88 वर्षीय मुबारक को साल 2011 में आम जनता के जनसंहार के आरोप में गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के बाद उन्हें एक सैन्य अस्पताल में रखा गया था। उनके साथ-साथ उनके दो बेटों का भी सजा हुई थी।

जनवरी 2016 में एक अदालत ने भ्रष्टाचार के आरोप में मुबारक और उनके दो बेटों को तीन साल की सजा को बरकरार रखा था। लेकिन कुछ दिनों बाद उनके दोनों बेटे अला और जमाल को अदालत ने रिहा कर दिया।

Top Stories