Friday , December 15 2017

मिस्र में जुमे की नमाज पढ़ रहे लोगों पर चरमपंथी हमला, 235 से अधिक मौतें

सिनाई.मिस्र के उत्तरी प्रांत सिनाई में एक मस्जिद के समीप जुम्मे की नमाज के दौरान बम धमाका हुआ। अलआरिश में अल रॉवडा मस्जिद के समीप यह बम लगाया था जो नमाज के दौरान फट गया। स्थानीय ख़बरों के अनुसार, संदिग्ध चरमपंथियों ने मस्जिद में पहले बम से हमला किया और फिर गोलीबारी की. इस घटना में 235 से आधी लोगों की मौत होने की खबर है और कई लोग घायल हो गए हैं। चरमपंथियों ने मस्जिद में पहले बम से हमला किया और फिर गोलीबारी की।

गौरतलब है कि कुछ हफ्ते पहले सिनाई में ही मिस्र के सैनिकों पर एक बड़ा चरमपंथी हमला हुआ था। मिस्र इस इलाके में इस्लामी चरपमंथ से जूझ रहा है। साल 2013 में तत्कालीन राष्ट्रपति मोहम्मद मोर्सी के हटाए जाने के बाद इस इलाके में चरमपंथी हमले बढ़े हैं। 

हालांकि हताहतों की संख्या और बढ़ने की आशंका है. स्थानीय पुलिस के हवाले से कहा गया है कि चार गाड़ियों में सवार होकर आए हथियारबंद लोगों ने नमाज पढ़ रहे लोगों पर गोलियां चलानी शुरू कर दीं.

इससे पहले भी मस्जिदों में नमाज पढ़ रहे लोगों पर चरमपंथी हमला होते ही रहे हैं. उत्तर पूर्वी नाइजीरिया में बोको हराम के आतंकवादियों ने घरों और मस्जिदों पर हमला कर करीब 150 लोगों की हत्या कर दी थी। आतंकवादियों ने मस्जिदों में नमाज पढ़ते पुरूषों और बच्चों को मार डाला था घरों में खाना पकाती महिलाओं को गोली मार दी। मई में राष्ट्रपति मुहम्मदू बुहारी के सत्ता में आने के बाद चरमपंथी समूह का यह भीषण हमला था।

एक साल पहले 2016 में बग़दाद में इमाम अली मस्जिद में नमाज़ के दौरान आत्मघाती धमाका हुआ था जिसमें कम से कम 9 व्यक्ति हताहत व 25 घायल हुए। यह मस्जिद दक्षिणी बग़दाद में स्थित है। अफगानिस्तान के उत्तरी शहर बल्ख की राजधानी मजार-ए-शरीफ के एक सेना बेस पर भी नमाज के दौरान तालिबान हमले में 140 से ज्यादा अफगान सैनिक मारे गए थे और करीब 150 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे

TOPPOPULARRECENT