Sunday , December 17 2017

मिस्र में जून तक सदरे ममलकत का इंतिख़ाब मुतवक़्क़े

क़ाहिरा के सदारती उम्मीदवार हमद बिन सबाही क़ाहिरा में अपनी पार्टी की कान्फ़्रैंस के दौरान यहां पहुंच गए। उबूरी सदर उदली मंसूर ने कहा कि मिस्र में दो या ढाई महीने में मुंतख़िबा क़ाइद बरसरे इक्तदार आ जाएगा। वो एक इंटरव्यू दे रहे थे जो

क़ाहिरा के सदारती उम्मीदवार हमद बिन सबाही क़ाहिरा में अपनी पार्टी की कान्फ़्रैंस के दौरान यहां पहुंच गए। उबूरी सदर उदली मंसूर ने कहा कि मिस्र में दो या ढाई महीने में मुंतख़िबा क़ाइद बरसरे इक्तदार आ जाएगा। वो एक इंटरव्यू दे रहे थे जो सरकारी मिलकीयत वाले रोज़नामा अल एहराम में शाय हुआ।

सदारती इंतिख़ाबात फ़ौज की क़ायम कर्दा हुकूमत की जानिब से इक़्तेदार मुंतक़िल करने के रास्ता में एक संगमेल समझा जा रहा है जिस के ज़रीए जम्हूरी दौरे हुकूमत का अहया मुम्किन है। फ़ौज ने इस्लाम पसंद सदर मुहम्मद मुर्सी को जुलाई में इक़्तेदार से बेदख़ल कर दिया था सरब्राह फ़ौज अब्दुल फ़तह अलसीसी ने इंतिख़ाबात में मुक़ाबला करने के अपने अज़ाइम को पोशीदा नहीं रखा।

इंतिख़ाबात मौसमे बहार में मुक़र्रर हैं। लेकिन सरकारी तौर पर उन की उम्मीदवारी का अब तक एलान नहीं किया गया है। मुर्सी मिस्र के पहले जम्हूरी तौर पर मुंतख़िबा सदर थे और सदर के ओहदे पर फ़ाइज़ होने वाले अव्वलीन शहरी थे जिन्हें सड़कों पर एहतेजाज के बाद इक़्तेदार से बेदख़ल कर दिया गया।

TOPPOPULARRECENT