Sunday , December 17 2017

मिस्र में नई हुकूमत को मुश्किलात

क़ाहिरा, 12 जुलाई: (पी टी आई) मिस्र के नए वज़ीर-ए-आज़म को नई काबीना की तशकील में कई रुकावटों का सामना है क्योंकि मुल्क इंतिशार का शिकार है। दूसरी तरफ़ इख़वान अलमुस्लिमीन ने मुहम्मद मुर्सी की बरतरफ़ी के ख़िलाफ़ अपना एहतिजाज जारी रखे है।

क़ाहिरा, 12 जुलाई: (पी टी आई) मिस्र के नए वज़ीर-ए-आज़म को नई काबीना की तशकील में कई रुकावटों का सामना है क्योंकि मुल्क इंतिशार का शिकार है। दूसरी तरफ़ इख़वान अलमुस्लिमीन ने मुहम्मद मुर्सी की बरतरफ़ी के ख़िलाफ़ अपना एहतिजाज जारी रखे है।

एक बयान में इख़वान अलमुस्लिमीन ने कहा कि दस्तूरी तौर पर मुंतखिब हुकूमत को खूँरेज़ फ़ौजी बग़ावत के ज़रीया बरतरफ़ी के ख़िलाफ़ हम पुरअमन एहतिजाज जारी रखेंगे। इस दौरान वज़ारत इंशोरंस ऐंड सोश्यल अफयेर्स ने कहा कि अगर तहक़ीक़ात के दौरान ये पता चले कि इस्लाम पसंद ग्रुप इख़वान अलमुस्लिमीन के हेडक्वार्टर में हथियारों का ज़ख़ीरा रखा गया था तो इस तंज़ीम पर इम्तिना आइद किया जा सकता है।वज़ारती ज़राए ने कहा कि मैनेजमेंट आफ़ लीगल अफयेर्स के साथ अंदरून दस यौम इजलास मुनाक़िद होगा जिस में क़तई फ़ैसला किया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT