Wednesday , May 23 2018

मिस्र में नए दस्तूर के हक़ में भारी वोट

क़ाहिरा, 16 दिसंबर: ( पी टी आई ) सदर मिस्र मुहम्मद मोर्सी को ज़बरदस्त ख़ुशी हासिल हो रही है क्योंकि दस्तूरी रेफ़रंडम के लिये मुनाक़िदा रायदही ( मतदान) में उन्हें भारी अक्सरियत से कामयाबी मिलेगी ।सदर के जायज़ होने के लिये जारी इम्तेहान मे

क़ाहिरा, 16 दिसंबर: ( पी टी आई ) सदर मिस्र मुहम्मद मोर्सी को ज़बरदस्त ख़ुशी हासिल हो रही है क्योंकि दस्तूरी रेफ़रंडम के लिये मुनाक़िदा रायदही ( मतदान) में उन्हें भारी अक्सरियत से कामयाबी मिलेगी ।सदर के जायज़ होने के लिये जारी इम्तेहान में अवाम की भारी तादाद ने दस्तूर पर रेफ़रंडम के हक़ में वोट दिया है ।

इस्लाम पसंदों और सैक्यूलर ग्रुप के दरमियान इक़तिदार ( शासन) की शदीद लड़ाई के बाद 3 हफ़्तों से सड़क पर तशद्दुद और ताक़त का मुज़ाहिरा किया गया । जिससे मजबूर होकर सदर मोर्सी ने दस्तूर पर रेफ़रंडम कराने का ऐलान किया था । सैक्यूलर अपोज़ीशन ने इब्तिदा में रेफ़रंडम का बाईकॉट करने का फैसला किया था लेकिन बादअज़ां इसने रायदही में हिस्सा लेते हुए दस्तूरी मुसव्वदे को मुस्तर्द कर दिया ।

इसका ख़्याल है कि नए दस्तूर में जिन्सी मुसावात (Gender equality) की ज़मानत नहीं है । अक्लीयतों को हुक़ूक़ हासिल नहीं हैं । इस दस्तूर में इज़हार ख़्याल की आज़ादी भी नहीं है । लेकिन अब अवाम की अक्सरियत ने सदर मोर्सी के दस्तूरी रेफ़रंडम पर भारी वोट दिया है क़तई नताइज का इंतेज़ार है ।

कल रात अपोज़ीशन इत्तिहाद पर मुश्तमिल नैशनल सॉल्वेशन फ्रंट ने सदारती महल और तहरीर स्क़्वायर पर एहतिजाजी मुज़ाहिरे किए। उन्होंने इससे पहले अवाम से ख़ाहिश की थी कि रेफ़रंडम का बाईकॉट करने की बजाय रायदही ( मतदान) में हिस्सा लेते हुए मुजव्वज़ा दस्तूर की मुख़ालिफ़त में वोट दें।

तहरीर स्क़्वायर पर एहतिजाजियों ने नारे लगाए कि ऐ शहीदो हम तुम्हारे ख़ून से ये क़सम खाते हैं कि बहुत जल्द एक और इन्क़िलाब आएगा। इसके इलावा मौजूदा हुकूमत को बेदखल होना चाहीए, ये अवामी मुतालिबा है के नारे भी लगाए गए। मुवाफ़िक़ मोर्सी ग्रुप्स ने भी ताईद में क़ाहिरा की सड़कों पर मुज़ाहिरे किए और वो प्ले कार्ड्स थामे हुए थे जिस पर तहरीर था कि हम नए दस्तूर की ताईद करते हैं।

TOPPOPULARRECENT