Thursday , November 23 2017
Home / Islami Duniya / मिस्र में पार्लीमानी इंतिख़ाबात का पहला मरहला

मिस्र में पार्लीमानी इंतिख़ाबात का पहला मरहला

मिस्र में एक तवील इंतेज़ार के बाद इतवार को पार्लीमानी इंतिख़ाबात के पहले मरहले में वोट डाले जा रहे हैं जिन्हें मुल्क में जम्हूरीयत बहाल करने की तरफ़ पेश रफ़्त क़रार दिया जा रहा है लेकिन नाक़िदीन इस ज़िमन में शको शुबहात का इज़हार ज़ाहिर कर रहे हैं।

जून 2012 में एक अदालती हुक्म पर पार्लीयामेंट तहलील कर दी गई थी जिसके बाद से मुल्क में पार्लीमानी इंतिख़ाब नहीं हो सके हैं। 2013 में फ़ौज के सरब्राह अब्दुल फ़ताह अल सीसी ने पहले जम्हूरी मुंतख़ब सदर मुहम्मद मुर्सी को इक़्तेदार से बरतरफ़ कर दिया और बादअज़ां सदारती इंतिख़ाब के ज़रीए इक़्तेदार पर बिराजमान हुए।

अल सीसी ने पार्लीमानी इंतिख़ाबात को जम्हूरीयत के सफ़र में एक अहम संगमेल क़रार दिया है। मिस्र की पार्लीमान में 568 नशिस्तें हैं जिनमें 448 वोट के ज़रीए जब कि 120 ख़वातीन, नौजवान और मसीहीयों के लिए मख़सूस हैं।

TOPPOPULARRECENT