Sunday , January 21 2018

मिस्र में शीयाज़्म का फ़रोग़, बैरूनी फंडिंग का इन्किशाफ़

मिस्र की सबसे बड़ी दीनी दरसगाह जामिआ अल अज़हर के सरब्राह डॉक्टर अहमद अलतीब ने इन्किशाफ़ किया है कि उनके मुल्क में अहले सुन्नत मसलक के नौजवानों को शीया मसलक की तरफ़ माइल करने और मिस्र में शीयाज़्म की तब्लीग़ के लिए बैरून मुल्क से फंड्स फ़राहम किए जाते रहे हैं।

अल अर्बिया डॉट नेट के मुताबिक़ अपने एक बयान में शेख़ अल अज़हर ने कहा कि हमने मुतअद्दिद मर्तबा बैरून मुल्क से होने वाली मुतनाज़े फंडिंग पर एतराज़ किया। एक सुन्नी अक्सरीयती मुल्क में इस नौईयत के फ़ंड फ़ित्ना और फ़साद को फ़रोग़ देने और खूनखराबे का वजह बन सकती है।

यही वजह है कि जमीया अल अज़हर ने नफ़रत, फ़िर्कापरस्ती और दीगर समाजी और मुआशरती बुराईयों का वजह बनने वाली ग़ैर मुल्की रक़ूमात के ख़िलाफ़ आवाज़ बुलंद की मगर इस पर खुल कर बात इसलिए ना की जा सकी कि ये मुल्क में खूनखराबे का बाइस बन सकती थी।

TOPPOPULARRECENT