मीकानिक को ज़ोद-ओ-कूब के ज़िम्मेदार हैड कांस्टेबल और कांस्टेबल की मुअत्तली की सिफ़ारिश

मीकानिक को ज़ोद-ओ-कूब के ज़िम्मेदार हैड कांस्टेबल और कांस्टेबल की मुअत्तली की सिफ़ारिश

हैदराबाद । 6/ अक्टूबर ( सियासत न्यूज़) मीरचोक पुलिस की जानिब से मोटर मीका नेक मुहम्मद अहमद अली को मुबय्यना तौर पर शदीद ज़ोद -ओ-कूब किए जाने के वाक़िया में डिप्टी कमिशनर पुलिस साॶथ ज़ोन मिस्टर विनीत बृजलाल ने आज मीर चौक पुलिस स्टेशन से

हैदराबाद । 6/ अक्टूबर ( सियासत न्यूज़) मीरचोक पुलिस की जानिब से मोटर मीका नेक मुहम्मद अहमद अली को मुबय्यना तौर पर शदीद ज़ोद -ओ-कूब किए जाने के वाक़िया में डिप्टी कमिशनर पुलिस साॶथ ज़ोन मिस्टर विनीत बृजलाल ने आज मीर चौक पुलिस स्टेशन से वाबस्ता एक हैड कांस्टेबल और एक कांस्टेबल को मुअत्तल करने केलिए कमिशनर पुलिस को सिफ़ारिशी रिपोर्ट पेश करदी । बताया जाता है कि मीरचोक पुलिस स्टेशन के रखशक मोबाईल गाड़ी के हैड कांस्टेबल पर्वत रेड्डी और ब्लू कोल्टस पार्टी के कांस्टेबल शैव कुमार को इस वाक़िया में मुलव्वस होने की इत्तिला पर उन के ख़िलाफ़ कार्रवाई केलिए डी सी पी सावथ ज़ोन ने अस्सिटैंट कमिशनर पुलिस मीर चूक को इस वाक़िया की रिपोर्ट पेश करने की हिदायत दी थी जिस के बाद इन दो पुलिस मुलाज़मीन के ख़िलाफ़ अस्सिटैंट कमिशनर पुलिस मीरचोक मिस्टर ऐम कशटया ने अपने आला ईद यदा दरों को आज शाम एक तहरीरी रिपोर्ट पेश की जिस के बाद उन के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई का फ़ैसला किया गया । वाज़िह रहे कि कल कमल नगर , चादर घाट के मुक़ीम मोटर मीका निक 50 साला मुहम्मद अहमद अली को होटल में नाशतादान करने के बाद हाथ धोने पर मीरचोक पुलिस के कांस्टेबलस ने उन्हें शदीद ज़द्द-ओ-कूब करते हुए मुबय्यना तौर पर इन का पैर तोड़ दिया और बादअज़ां दवाख़ाना उस्मानिया में शरीक करवाकर फ़रार होगए थे । पुलिस के इस ज़ुलम से मुताल्लिक़ आज अख़बारात में ख़बर शाय होने के बाद साॶथ ज़ोन पुलिस के आला ओहदेदार हरकत में आकर इस वाक़िया की तहक़ीक़ात का हुक्म दिया था और दो पुलिस मुलाज़मीन को इस वाक़िया में ज़िम्मेदार पाया। बावसूक़ ज़राए ने बताया कि मुहम्मद अहमद अली को आज उन के अरकान ख़ानदान ने उस्मानिया जनरल हॉस्पिटल से उन्हें बंजारा हिलज़ में वाक़्य एक ख़ानगी दवाख़ाना में मुंतक़िल करदिया । जब उन से रब्त पैदा किया गया तो अहमद अली के अरकान ख़ानदान ने ये इल्ज़ाम आइद किया कि दवाख़ाना उस्मानिया में उन्हें चंद माइतरी मैंबर ने इस वाक़िया को रफ़ा दफ़ा करने केलिए मुआवज़ा की भी पेशकश की जिस के सबब अहमद अली को उस्मानिया हॉस्पिटल छोड़ना पड़ा ।

Top Stories