Saturday , December 16 2017

मुंतख़ब आज़मीने हज के लिए आज रक़म जमा करने की आख़िरी तारीख

हज सीज़न 2014 के लिए मुंतख़ब 2435 आज़मीने हज ने पहली क़िस्त की रक़म अदा करदी है जबकि ख़ुसूसी कोटा के तहत 12 ख़्वातीन की दरख़्वास्तें वसूल हुईं जो अपने महरम के साथ हज की सआदत हासिल करने की ख़ाहां हैं।

हज सीज़न 2014 के लिए मुंतख़ब 2435 आज़मीने हज ने पहली क़िस्त की रक़म अदा करदी है जबकि ख़ुसूसी कोटा के तहत 12 ख़्वातीन की दरख़्वास्तें वसूल हुईं जो अपने महरम के साथ हज की सआदत हासिल करने की ख़ाहां हैं।

स्पेशल ऑफीसर हज कमेटी प्रोफेसर एस ए शकूर ने बताया कि मुंतख़ब आज़मीने हज के लिए पहली क़िस्त के तौर पर 81 हज़ार रुपये की अदाएगी की आख़िरी 15 मई मुक़र्रर की गई है।

क़ुरआ अंदाज़ी के ज़रीए 3904 आज़मीने हज का इंतिख़ाब किया गया जबकि 1474 आज़मीन दो महफ़ूज़ ज़ुमरों के तहत क़ुरआ अंदाज़ी के बगैर मुंतख़ब कर लिए गए हैं।

उन्हों ने बताया कि महफ़ूज़ ज़मुरा के तहत मुंतख़ब 1474 आज़मीन ने पहली क़िस्त और पासपोर्ट जमा कर दिए हैं। हज कमेटी को जारीया साल जुमला 18080 दरख़्वास्तें वसूल हुईं थीं।

आंध्र प्रदेश के लिए ज़ाइद कोटा की मंज़ूरी के बारे में पूछे जाने पर प्रोफेसर एस ए शकूर ने कहा कि 500 ता 600 आज़मीन के ज़ाइद कोटा की मंज़ूरी का इमकान है। ताहम उन का इंतिख़ाब वेटिंग लिस्ट की तरतीब के हिसाब से किया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT