मुंबई में दीवार गिरने से एक और हादसा, 16 की मौत, कई लोगों के दबे होने की आशंका

मुंबई में दीवार गिरने से एक और हादसा, 16 की मौत, कई लोगों के दबे होने की आशंका

मुंबई में दीवार गिरने से एक और बड़ा हादसा हुआ है। भारी बारिश की वजह से मुंबई के मलाड इलाके में सोमवार देर रात दीवार गिरने से 16 लोगों की मौत हो गई है, जबकि कई लोगों के दबे होने की आशंका है। बचाव और राहत कार्य के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के कर्मचारी घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं। इससे पहले महाराष्ट्र के पुणे में शनिवार (29 जून) की सुबह एक बड़ा हादसा हो गया था, जहां पुणे के कोंढवा में दीवार गिरने से 15 लोगों की मौत हो गई थी।

बृहत मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) ने घटना में 13 लोगों के मरने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा, ”कुरार गांव में एक ढलान सरीखे पहाड़ पर बने कुछ अस्थायी झोपड़ियों पर दीवार गिरने से 13 लोगों की मौत हो गई है। अग्निशमन और राष्ट्रीय आपदा राहत बल के कर्मचारी घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं और राहत कार्य में जुट गए हैं।

 

घटना के लाइव अपडेट्स

* मलाड में दीवार गिरने से 16 की मौत, मरने वालों में 2 बच्चे और एक महिला भी शामिल।

* देवेंद्र फड़णवीस ने हादसे में मारे गए लोगों के परिवार के प्रति संवेदना जताई है।
* मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने 5 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया है।

* महाराष्ट्र सरकार ने 2 जुलाई को मुंबई, नवी मुंबई, थाणे और कोंकण इलाके के सभी सरकारी और निजी स्कूलों के लिए अवकाश घोषित किया है।

* भारी बारिश के बाद सोमवार आधी रात 12:30 बजे कल्याण में राष्ट्रीय उर्दू विद्यालय की दीवार गिरने से 3 लोगों की मौत हो गई, जबकि एक घायल हो गया।
* मौसम विभाग की और से भारी बारिश की चेतावनी के बाद महाराष्ट्र मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) की ओर से लोगों को घर से बाहर नहीं निकलने की सलाह दी गई है। इमरजेंसी हालात में ही घर से निकलने को कहा गया है।

* मुंबई में बारिश की वजह से करीब 54 विमानों को नजदीकी हवाईअड्डों की तरफ मोड़ा गया है।

मुंबई में भारी बारिश, बाढ़ का गंभीर खतरा  
मुंबई में सोमवार (1 जुलाई) को सुबह भारी बारिश हुई और इसके बाद शहर में कई स्थानों पर पानी भर गया जिसकी वजह से ट्रैफिक जाम भी हुआ और ट्रेनों की आवाजाही पर भी असर पड़ा। हालांकि निकाय प्रशासन जगह-जगह जल भरने की जिम्मेदारी नहीं लेना चाह रहे हैं। नगरपालिका आयुक्त प्रवीण परदेशी ने बताया कि दो दिनों में 540 मिमी बारिश हुई जो पिछले एक दशक में दो दिन में हुई सबसे ज्यादा बारिश है। मौसम विभाग ने आसपास के इलाकों ठाणे और पालघर में दो, चार और पांच जुलाई को ‘बेहद भारी बारिश की आशंका जाहिर की है।

निजी मौसम एजेंसी स्काईमेट ने बताया कि मुंबई में तीन जुलाई से पांच जुलाई के बीच ‘बाढ़’ का गंभीर खतरा है । इस दौरान 200 मिमी या इससे ज्यादा बारिश हर दिन होगी, जो कि आम जनजीवन में बाधा पहुंचाएगी। निकाय अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को रात 10 बजकर 54 मिनट पर 3.84 मीटर तक ऊंची लहरें उठेंगी। उन्होंने लोगों से इस दौरान समुद्र के निकट नहीं जाने की चेतावनी दी है। यह ऊंची लहरें पृथ्वी और चांद के बीच गुरूत्वाकर्षण के खिंचाव की वजह से है।

वेस्टर्न घाट सेक्शन के करजात और लोनावाला के बीच सोमवार को तड़के एक मालवाहक ट्रेन पटरी से उतर गई जिससे पुणे और पश्चिमी महाराष्ट्र की ओर जाने वाली लंबी दूरी की कई ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ।

Top Stories