Friday , December 15 2017

मुख़्तलिफ़ ख़िदमात के लिए रजिस्ट्रेशन फीस में इज़ाफ़ा

रियासती हुकूमत ने महकमा रजिस्ट्रेशन और स्टैम्प्स की जानिब से फ़राहम की जाने वाली मुख़्तलिफ़ ख़िदमात पर रजिस्ट्रेशन फीस में इज़ाफ़ा किया है। गिफ्टिंग , सेटलमेंट , एक्सचेंज , जेनरल पावर ऑफ़ अटार्नी , लीज़ , लाईसैंस , मॉर्टगेज की इजराई इन ख़ि

रियासती हुकूमत ने महकमा रजिस्ट्रेशन और स्टैम्प्स की जानिब से फ़राहम की जाने वाली मुख़्तलिफ़ ख़िदमात पर रजिस्ट्रेशन फीस में इज़ाफ़ा किया है। गिफ्टिंग , सेटलमेंट , एक्सचेंज , जेनरल पावर ऑफ़ अटार्नी , लीज़ , लाईसैंस , मॉर्टगेज की इजराई इन ख़िदमात में शामिल हैं। रियासती हुकूमत के जारी कर्दा जी ओ एम इस नंबर 463 , मौरर्ख़ा 17 अगस्त 2013 से इस पर इतलाक़ होगा।

विनोद के अग्रवाल सीनियर ओहदेदार महकमा रजिस्ट्रेशन एंड स्टैम्प्स ने बताया कि सर्विस चार्जेस में इज़ाफ़ा सालाना तौर पर नहीं होगा। बताया गया कि तातीलात के दौरान दस्तावेज़ात के रजिस्ट्रेशन फीस में 1000 रुपये ता 5000 रुपये इज़ाफ़ा हुआ है।

जब कि महकमा के ओहदेदारों की जानिब से मकान पर आकर रजिस्ट्रेशन करवाए जाने की सूरत में ये इज़ाफ़ा 500 रुपये ता 1000 रुपये होगा। इसी तरह सेटलमेंट के लिए फीस 1000 रुपये ता 10,000 रुपये होगी।

क़ब्ल अज़ीं इस के लिए सिर्फ़ 1000 रुपये फीस ली जाती थी। गैर मनक़ूला जायदाद की फ़रोख़्त , तामीर , डेवलप्मेंट और मुंतक़ली के लिए दी जाने वाली पावर ऑफ़ अटार्नी दस्तावेज़ पर फीस 0.5 फ़ीसद होगी , कम अज़ कम 1000 रुपये और ज़्यादा से ज़्यादा 10,000 रुपये जायदाद की कीमत पर मुनहसिर होगी।

TOPPOPULARRECENT