मुख्तार अंसारी के परिजनों में डर का माहोल, सीएम योगी पर लगाए आरोप

मुख्तार अंसारी के परिजनों में डर का माहोल, सीएम योगी पर लगाए आरोप
Click for full image

माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या के कुछ दिन बाद ही जेल में बंद एक मुख्तार अंसारी के परिजन ने उनकी सुरक्षा को लेकर चिन्ता व्यक्त की है. वहीँ दूसरी तरफ बागपत जेल में बंद मुख्तार अंसारी खुद अपनी सुरक्षा को लेकर बेहद डरे हुए है यहां तक कि मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद दो दिन तक वो अपनी बैरक से भी बाहर नहीं आये थे.

बजरंगी हत्याकांड के बाद मुख्तार अंसारी के परिजन भी उनकी सुरक्षा को लेकर बेहद डरे हुए और चिंतित हैं. मुख्तार के भाई अफजाल ने शुक्रवार को मीडिया से फोन पर बातचीत में योगी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि जहां तक सुरक्षा का प्रश्न है, तो इस सरकार से कोई उम्मीद नहीं की जा सकती. अफजाल ने सवाल उठाया, ‘इस सरकार से कोई उम्मीद है क्या ? सभी उम्मीदें खत्म हो चुकी हैं.

उन्होंने कहा कि मुख्तार जब उत्तर प्रदेश विधानसभा सत्र में शामिल हो रहे थे तो उन्होंने कहा था कि उनके जीवन को खतरा है. लेकिन सवाल यह है कि सुरक्षा किससे मांगी जाए. जब मुख्यमंत्री खुद ही सदन में कह रहे हैं कि ‘ठोंक दिया जाएगा’ तो पुलिस वस्तुत: उनके इशारे पर फर्जी मुठभेडें कर रही है.

उन्होंने वर्तमान कानून व्यवस्था को लेकर आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति में गिरावट आई है. बलात्कार और हत्या की घटनाएं रोजाना हो रही हैं. उनका कहना था कि बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह ने 29 जून को एक प्रेस वार्ता में दावा किया था कि उनके पति के जीवन को खतरा है. बावजूद इसके मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में सनसनीखेज ढंग से हत्या हो गई. इस बीच बागपत के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी सुनील राठी ने बजरंगी को मारने के बाद सभी साक्ष्य मिटा दिए थे. हालांकि मामले की बारीकी से छानबीन की जा रही है.

Top Stories