मुज़फ्फरनगर: गौ रक्षा के नाम पे “आतंकवाद” फैलाने वालों के खिलाफ दो दिन बाद भी कोई कार्यवाही नहीं

मुज़फ्फरनगर: गौ रक्षा के नाम पे “आतंकवाद” फैलाने वालों के खिलाफ दो दिन बाद भी कोई कार्यवाही नहीं
Click for full image

मुज़फ्फरनगर: उत्तर प्रदेश के मुज़फ्फरनगर में स्थित कदाली गाँव में जब गौ हत्या की अफ़वाह फैली तो दंगाई भीड़ जिसका मक़सद आतंक फैलाना था ने ज़ीशान के घर पे हमला कर दिया,

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

खतौली पुलिस ने ज़ीशान और उसके भतीजे सद्दाम को दंगाई भीड़ की बात मानते हुए गिरफ़्तार भी कर लिया, अदालत ने भी 14 दिन की हिरासत में ज़ीशान और सद्दाम को भेज दिया लेकिन पुलिस ने उन लोगों पर कोई कार्यवाही नहीं की जिन्होनें ज़ीशान के घर पे हमला किया और क़ानून को अपने हाथ में लेने की कोशिश की. इस बारे में पुलिस का कहना है कि जांच चल रही है.इस बारे में SHO पंकज त्यागी का कहना है कि जो दीवार गिरी वो पक्की नहीं थी. उन्होंने दंगाई भीड़ का बचाव करते हुए कहा कि 30 के क़रीब लोग जब ज़ीशान के घर के बाहर जमा हो गए तो जानवर घबरा गए और वो इधर उधर दौड़ने लगे..नुक़सान शायद इस वजह से हुआ है.
हालाँकि त्यागी ने कहा जांच चल रही है. जितनी बातें त्यागी बता रहे क्या वो बातें इन दंगाईयों पे कार्यवाही करने के लिए पर्याप्त नहीं हैं क्या? पुलिस भी लगता है गाय-रक्षा करते करते इंसानों की रक्षा करना भूल रही है.

Top Stories