Friday , December 15 2017

मुज्ज़फ़रनगर : हिंदु लड़की से दोस्ती रखने पर मुस्लिम किशोर की हत्या

मुज्ज़फ़रनगर : 18 जुलाई को लापता हुए 16 वर्षीय किशोर इरशाद आलम का शव गुरुवार को हिंदू स्वामित्व वाली तेल मिल के पिछले हिस्से से बरामद हुआ है |

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, किशोर का तेल मिल के मालिक चंदर सैनी की भतीजी के साथ अफेयर था| मृतक इरशाद के लापता हो जाने के बाद उसके पिता ने कुछ स्थनीय लोगों के साथ पुलिस स्टेशन जाकर उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी थी |

पुलिस ने इरशाद की कॉल डिटेल के माध्यम से उसकी खोजबीन शुरू की जिसके बाद उसकी आख़िरी लोकेशन सैनी की भतीजी के घर के पास मिली | पुलिस ने इस बारे में लड़की से पूछताछ किये जाने पर उसने रोना शुरू कर दिया | पुलिस द्वारा घर की तलाशी  लिए जाने पर मृतक का शव घर के पिछले हिस्से में दफ़न हुआ पाया गया |

एसएसपी दीपक कुमार टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा हमें मृतक की कॉल डिटेल से मालूम हुआ था कि वह एक खास व्यक्ति के संपर्क में है आगे की जाँच में पता चला की जिससे वह बात करता है वो पड़ोस में रहने वाली एक लड़की है | दिलचस्प बात ये है कि दोनों सिम इरशाद के नाम से ही हैं जिससे ये अंदाज़ा होता है कि ये सिम मृतक ने ही लड़की को दिया होगा |

उन्होंने बताया कि लड़की के भाइयों ने पूछताछ में कि उन्होंने समोवार को लड़के का अपहरण करने के बाद उसकी गला काटकर हत्या कर दी थी और इस अपराध को छुपाने के लिए लड़की के चाचा के घर के पिछले हिस्से में एक गड्ढे में शव को छुपा दिया था | पुलिस ने शव बरामद करने के साथ ही लड़की के भाइयों पवन और मोहन सैनी के साथ उनके चाचा को भी गिरफ़्तार कर लिया है |

2013 के मुजफ्फरनगर दंगों का केंद्र माने जाने वाले कवाल गाँव में इस घटना के बाद से तनाव हो गया है |
इस घटना से पहले गंभीर मुजफ्फरनगर दंगा के दौरान भी सैनी और अहमद के परिवार बिना किसी मनमुटाव के पड़ोसियों के रूप में शांति से रह रहे थे |

 

गुरुवार सुबह हत्या की खबर के बाद स्थनीय लोग पुलिस थाने के बहार इकठ्ठा हुए उन्होंने मांग की कि आरोपियों को उन्हें सौंप दिया जाए | उनकी इस मांग से इलाक़े में तनाव बढ़ गया है |

एसएसपी ने बताया कि क्षेत्र में कानून और व्यवस्था बनाए रखने  और किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए अतिरिक्त बलों को तैनात किया गया है |

 

 

TOPPOPULARRECENT