Saturday , February 24 2018

मुझे पीएम ओहदे का कोई लालच नहीं : नीतीश

पटना 22 जून : बिहार के वजीर ए आला नीतीश कुमार ने आज कहा है कि न तो मैं मौक़ा परस्त लीडर हूं और न ही किसी को धोखा देने में यकीन रखता हूं। मैंने भाजपा का साथ इसलिए छोडा क्योंकि वह अपने वादों पर खरी नहीं उतर रही थी।

पटना 22 जून : बिहार के वजीर ए आला नीतीश कुमार ने आज कहा है कि न तो मैं मौक़ा परस्त लीडर हूं और न ही किसी को धोखा देने में यकीन रखता हूं। मैंने भाजपा का साथ इसलिए छोडा क्योंकि वह अपने वादों पर खरी नहीं उतर रही थी।

उन्होंने एक अंग्रेजी न्यूज चैनल को दिये इंटरव्यू में यह बात भी कहा कि मुझे पीएम ओहदे का कोई लालच नहीं है। उन्होंने इस बात को सिरे से नकार दिया कि पीएम ओहदे की दावेदारी के लिए उन्होंने राजग का साथ छोडा है। नीतीश ने कहा कि भाजपा ने मुतनाज़ा मसायल को उठने से रोकने और ऐसे कायेदिनों का कद नहीं बढ़ाने का वादा किया था जिनके चलते इत्तेहाद की तौसिह नहीं हो सकता है।

इंटरव्यू में वजीर ए आला ने कहा, ‘हमने भाजपा को धोखा नहीं दिया। यह इलज़ाम कि मैं मौक़ापरस्त हूं, बे बुनियाद है। हम कौमी जम्हूरी इत्तेहाद में इस यकीन के बाद शामिल हुए थे कि राम मंदिर तामीर, धारा 370 और यकसां सुल कोड जैसे मुतनाज़ा मसायल को नहीं उठाया जाएगा।’ कुमार ने कहा कि जदयू ने भाजपा को यह साफ़ कर दिया था कि उसे ‘ऐसे कायेदिनों को आगे नहीं बढ़ाना चाहिए जो इत्तेहाद का तौसिह नहीं कर सकते हैं। बिहार में हमने भाजपा से कहा था कि बाहरी ताकतों को अलग रखा जाए।’

भाजपा की इन्तेखाबात मुहीम कमेटी के सदर बनाए गए गुजरात के वजीर ए आला नरेंद्र मोदी का नाम लिए बिना कुमार ने कहा कि कद बढ़ाने के लिए आसपास जिस तरह का माहौल बनाया गया, उसने कई सवाल खड़े किए। उन्होंने कहा, ‘हमने अपनी खद्सा से भाजपा को आगाह करा दिया था। हमने भाजपा से कहा था कि इत्तेहदियों से बातचीत किए बिना किसी लीडर का नाम एलान नहीं किया जाए। भाजपा का नया मॉडल सबको साथ लेकर नहीं चल सकता। भाजपा अपने राह से हट गई है और उसने एक अलग रूख अख्तियार किया।’

नितीश कुमार ने गुजरात के तरक्की मॉडल को खारिज कर दिया और कहा कि एक ही मॉडल पूरे देश में काम नहीं कर सकता। अलग-अलग रियासतों के लिए तरक्की के अलग-अलग मॉडल हैं। बिहार जो कि पसमांदा रहा है उसका हमने तरक्की किया है। तरक्की कॉरपोरेट्स का नहीं बल्कि जरूरतों के लिए होना है। कुमार ने वाजपेयी की तारीफ की जो तमाम इत्तेहाद दलों को साथ लेकर चलते थे। उन्होंने सख्ती के साथ कहा कि जदयू ने हमेशा से ही हिंदुत्व की मुखालफत किया है।

TOPPOPULARRECENT