Thursday , April 26 2018

मुझे राष्ट्र विरोधी कहो, लेकिन भारत को पाकिस्तान के साथ बातचीत करनी चाहिए: मेहबूबा मुफ़्ती

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ्ती ने सोमवार को कहा कि भारत-पाकिस्तान को वार्ता करनी चाहिए, आगे जल्दी से उन्होंने फिर कहा कि उन्हें अपील करने के लिए टीवी चैनलों द्वारा “राष्ट्रविरोधी” करार कर दिया जाएगा। लेकिन उससे उनको फर्क नहीं पड़ता है।

मेहबूबा मुफ़्ती ने ट्वीट किया, “पाकिस्तान के साथ संवाद आवश्यक है यदि हम रक्तपात (राज्य में) समाप्त करना चाहते हैं।”

उन्होंने कहा, “मुझे पता है कि आज रात के समाचार एंकर द्वारा मुझे राष्ट्र विरोधी का नाम दिया जाएगा लेकिन इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा। जम्मू और कश्मीर के लोग पीड़ित हैं। हमें बात करना है क्योंकि युद्ध एक विकल्प नहीं है।”

मुख्यमंत्री की अपील राज्य में आतंकवादी हिंसा में तेजी के साथ-साथ भारतीय और पाकिस्तानी सेनाओं के बीच सीमावर्ती हिंसा के बीच हुई है।

घाटी में हुए हालिया आतंकवादी हमलों पर गुस्सा व्यक्त करते हुए, पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि पाकिस्तान के लिए परेशानी सिर्फ आने वाले दिनों में ही बढ़ेगी यदि वह भारत विरोधी नीतियों के साथ जारी रहेगी।

अब्दुल्ला ने कहा, “जितना आतंकवाद बढ़ेगा, उतनी मुसीबत आएगी, और उनके मुल्क में ज़्यादा मुसीबत आएगी. वहां कुछ भी नहीं रहेगा. अगर यही सूरत रही तो हिंदुस्तान की हुकूमत को भी सोचना पड़ेगा कि अगला कदम क्या होगा।”

दूसरी ओर, कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर पर नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों पर सवाल उठाए। वरिष्ठ पार्टी नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि अब आतंकवादी जम्मू क्षेत्र में भी हमले कर रहें हैं। इस क्षेत्र को अब तक आतंकवादी हमलों से बचाया गया था लेकिन अब सरकार इस क्षेत्र की सुरक्षा में विफल रही है।

TOPPOPULARRECENT