Friday , December 15 2017

मुझे लालू प्रसाद से हमदर्दी है: शुत्र घ‌न सिन्हा

साबिक़ फ़िल्म अदाकार और बी जे पी लीडर शुत्र घ‌न सिन्हा ने आज आर जे डी सरबराह लालू प्रसाद के जेल जाने के वाक़िया पर अफ़सोस का इज़हार किया और उनसे हमदर्दी ज़ाहिर की।

साबिक़ फ़िल्म अदाकार और बी जे पी लीडर शुत्र घ‌न सिन्हा ने आज आर जे डी सरबराह लालू प्रसाद के जेल जाने के वाक़िया पर अफ़सोस का इज़हार किया और उनसे हमदर्दी ज़ाहिर की।

शुत्र घन सिन्हा ने उम्मीद‌ ज़ाहिर की कि वो अदालत-ए-आलिया के हुक्म के बाद जल्द ही वापिस आजाऐंगे। पटना एय‌र पोर्ट पर अख़बारी नुमाइंदों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद को वो अपना दोस्त तसव्वुर करते हैं और इस तरह उनके जेल जाने पर (चारा स्क़ाम में) उन्हें बहुत बुरा लगा।

एक ऐसे वक़्त में जब लालू जी का ख़ानदान ग़म से दो-चार है। उनकी (सिन्हा) तमाम तर हमदर्दियां लालू जी, राबड़ी भाबी और दीगर अरकान ख़ानदान के साथ हैं। शुत्र घ‌न सिन्हा पटना साहिब से बी जे पी के लोक सभा रुक्न हैं। उन्होंने कहा कि फ़िलहाल वो जो कुछ भी कह रहे हैं वो उनकी शख़्सी हैसियत से कह रहे हैं।

लालू प्रसाद की पार्टी आर जे डी है और मेरी पार्टी बी जे पी है लेकिन लालू प्रसाद मेरे एक गहरे दोस्त हैं और इसी दोस्ती की बुनियाद पर मुझे उनसे हमदर्दी है। यहां ये बात भी काबिल-ए-ज़िकर है कि पटना यूनीवर्सिटी में शुत्र घ‌न सिन्हा अपने ज़माना-ए-तालिब इलमी में लालू प्रसाद के सीनियर थे जबकि दूसरी तरफ़ बी जे पी ने लालू प्रसाद के कई करोड़ रूपियों के चारा स्क़ाम में मुलव्वस होने पर सी बी आई अदालत की जानिब से उन्हें ख़ाती क़रार देने और जेल भेजने के फ़ैसला का खैरमक़दम किया है।

TOPPOPULARRECENT