मुझे लोग इसी रुप में पंसद करते हैं, बदलने का सवाल नहीं- शहाबुद्दीन

मुझे लोग इसी रुप में पंसद करते हैं, बदलने का सवाल नहीं- शहाबुद्दीन

नई दिल्ली। जेल से जमानत पर रिहाई के बाद सिवान के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन ने इंडिया टीवी के संवाददाता से कहा कि मुझे बदलने की जरूरत नहीं है। अगर मेरे लोग मुझे इसी रूप में पसंद करते हैं तो मैं ऐसे ही रहूंगा। इससे पहले 2005 में इंडिया टीवी के आपकी अदालत कार्यक्रम में शहाबुद्दीन ने कहा था कि मेरे घर में 1932 से बंदूकें हैं। जिस परिवार में 1932 से बंदूकें रही होंगी वह परिवार कैसा रहा होगा आप खुद अंदाजा लगा सकते हैं। यह खुद शहाबुद्दीन के बोल थे जो उसने कैमरे के सामने कहा था। 1986 में शहाबुद्दीन पर पहला आपराधिक केस दर्ज हुआ था। शहाबुद्दीन पर अबतक 39 आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं। 3 मामलों में निचली अदालत से मिल चुकी है सजा।

Top Stories