Thursday , September 20 2018

मुठभेड़ में मारा गया 10 लाख का इनामी आतंकी

मेघालय के पूर्वी गारो पहाड़ी जिले में आज (24 फरवरी) सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में अतिवांछित उग्रवादी एवं प्रतिबंधित गारो नेशनल लिबरेशन आर्मी (जीएनएलए) का स्वयंभू प्रमुख मारा गया। जीएनएलए प्रमुख सोहन डी शीरा के ऊपर 10 लाख रुपये का इनाम घोषित था। महज कुछ दिन पहले इसी जिले में एक देशी बम हमले में राकांपा उम्मीदवार जोनाथन एन संगमा मारे गये थे । जीएनएलए पर यह देशी बम हमला करने का संदेह है। संगमा की मौत के बाद चुनाव में उतरने जा रहे दक्षिण एवं पूर्वी गारो पहाड़ी जिले में उग्रवाद निरोधक अभियान तेज कर दिया गया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि डोबू इलाके में कुछ जीएनएलए उग्रवादियों की संभावित मौजूदगी की खुफिया खबर मिलने के बाद उग्रवाद निरोधक बल को हरकत में आने को कहा गया है। आज ग्यारह बजे डोबू के समीप अचाकपेक गांव में मुठभेड़ हुई और सोहन मारा गया।

मेघालय के पुलिस चीफ स्वराज बीर सिंह ने कहा कि इस बात की पुष्टि हो गई है कि वह सुरक्षाबलों के साथ संघर्ष में मारा गया है। एसएफ-10 कमांडो की टीम ऑपरेशन में लगी हुई थी, ऑपरेशन 11.50 मिनट पर हुआ, पुलिस को पूरे ऑपरेशन की जानकारी का इंतजार कर रही है। हालांकि जीएनएलए द्वारा इस बात की पुष्टि की जानी बाकी है। पूर्वी गारो हिल्स के डिप्टी कमिश्नर राम कुमार ने कहा कि मृतक आतंकी की डेड बॉडी के साथ जरूरी मेडिकल औपचारिकताएं की जा रही है।इस कामयाब ऑपरेशन के लिए मेघालय के मुख्यमंत्री मुकुल संगमा ने पुलिस और सुरक्षा बलों को बधाई दी है और कहा है कि यह मेघालय पुलिस के बहादुर जवानों की कामयाबी है। उन्होंने कहा, “मैं मेघालय पुलिस के बहादुर महिलाओं और पुरुषों को दिल से बधाई देता हूं जिन्होंने बिना थके हुए और पूरे समर्पण भाव से सोहन डी शीरा जैसे राज्य के दुश्मनों का सफाया किया।”

TOPPOPULARRECENT