मुत्तहदा रियासत की ज़रूरत पर जगन के साथ काम करना भी मुम्किन

मुत्तहदा रियासत की ज़रूरत पर जगन के साथ काम करना भी मुम्किन
कांग्रेस के सीनियर रुक्न असेंबली साबिक़ रियास्ती वज़ीर जे सी दीवाकर रेड्डी ने कहा कि रियासत को मुत्तहिद रखने के लिए ज़रूरत पड़ने पर वो वाई एस आर कांग्रेस पार्टी के सदर जगन मोहन रेड्डी के साथ भी मिल कर काम करने के लिए तैयार है।

कांग्रेस के सीनियर रुक्न असेंबली साबिक़ रियास्ती वज़ीर जे सी दीवाकर रेड्डी ने कहा कि रियासत को मुत्तहिद रखने के लिए ज़रूरत पड़ने पर वो वाई एस आर कांग्रेस पार्टी के सदर जगन मोहन रेड्डी के साथ भी मिल कर काम करने के लिए तैयार है।

रियासत की तक़सीम के मसअले पर उन्हों ने कई मौक़िफ़ अपनाए हैं। जे सी दीवाकर रेड्डी ने 2009 में मुत्तहदा आंध्र की ताईद में सब से पहले इस्तीफ़ा दिया था।

4 माह क़ब्ल तेलंगाना रियासत की तशकील का फ़ैसला होने के बाद रॉयल तेलंगाना का मुतालिबा किया था। मुत्तहदा आंध्र प्रदेश को बरक़रार रखने के लिए वो कुछ भी करने तैयार हैं। असेंबली में तेलंगाना बिल को शिकस्त देने का ऐलान किया।

Top Stories