मुनक़सिम जज़ाइर के इंज़िमाम का मौक़ा है – तुर्क सदर

मुनक़सिम जज़ाइर  के इंज़िमाम का मौक़ा है – तुर्क सदर
अनक़रा 5 अप्रैल ( एजेंसीज़) तुर्क सदर अबदुल्लाह गुल ने कहा है कि मालीयाती बोहरान ने मुनक़सिम क़बरसी जज़ाइर के इंज़िमाम के लिए एक अहम मौक़ा फ़राहम किया है। तर्क सदर गुल ने कल अपने दौरा लथवीनया के दौरान सहाफ़ीयों से गुफ़्तगु करते ह

अनक़रा 5 अप्रैल ( एजेंसीज़) तुर्क सदर अबदुल्लाह गुल ने कहा है कि मालीयाती बोहरान ने मुनक़सिम क़बरसी जज़ाइर के इंज़िमाम के लिए एक अहम मौक़ा फ़राहम किया है। तर्क सदर गुल ने कल अपने दौरा लथवीनया के दौरान सहाफ़ीयों से गुफ़्तगु करते हुए कहा कि इस वक़्त क़साल को एक बड़े मालीयाती बोहरान का सामना है ,

और इस बोहरान को एक मौक़ा के तौर पर देखना चाहीए क्यों कि अगर मुनक़सिम क़साल का इंज़िमाम करना है तो बिलख़सूस मालीयाती हवाले से इस वक़्त एक बहुत अच्छा मौक़ा है।

1960 में बर्तानिया से आज़ादी हासिल करने वाला ये यूरोपीय मुल्क 1974 में उस वक़्त दो टुकड़ों में बट गया था, जब तुर्क फ़ौजी दस्तों ने इस के शुमाली हिस्से पर क़बज़ा कर लिया था, जिस के बाद से ये जज़ीरा शुमाली हिस्से की तुर्क क़बरसी जम्हूरिया और जुनूबी हिस्से की यूनानी क़बरसी जम्हूरिया में तक़सीम है।

Top Stories