Thursday , June 21 2018

मुफ्ती इलियास ने भगवान शिव को बताया पहला पैगम्बर

जमीयत उलेमा, बलरामपुर के सरपरस्त मुफ्ती मोहम्मद इलियास ने एक चौंकाने वाला बयान दिया है, जिस पर बवाल खडा हो सकता है। मोहम्मद इलियास ने बुध के रोज़ अयोध्या में कहा कि भगवान शंकर मुसलमानों के पहले पैगंबर हैं। इस बात को मानने में मुसलम

जमीयत उलेमा, बलरामपुर के सरपरस्त मुफ्ती मोहम्मद इलियास ने एक चौंकाने वाला बयान दिया है, जिस पर बवाल खडा हो सकता है। मोहम्मद इलियास ने बुध के रोज़ अयोध्या में कहा कि भगवान शंकर मुसलमानों के पहले पैगंबर हैं। इस बात को मानने में मुसलमानों को कोई गुरेज नहीं है। उन्होंने कहा, “हम भी सनातनधर्मीं हैं। शंकर और पार्वती हमारे मां-बाप हैं।”

उन्होंने आरएसएस के हिंदू राष्ट्र वाले बयान पर कहा कि, “हम हिंदुस्तान को हिंदू राष्ट्र ऐलान करने की मुखालिफत नहीं करते हैं। हिंदूस्तान में रहने वाला हर शख्स हिंदुस्तानी है।” मुफ्ती मोहम्मद इलियास ने कहा, “जिस तरह से चीन में रहने वाला चीनी, जापान में रहने वाला जापानी है, वैसे ही हिंदुस्तान में रहने वाला हर शख्स हिंदूस्तानी है। यह तो हमारा मुल्की नाम है।” उन्होंने कहा कि जब हमारे मां-बाप, खून और मुल्क एक है तो इस लिहाज से हमारा मज़हब भी एक है।

इस दौरान मुस्लिम वफद ने राम जन्मभूमि के अहम पुजारी सतेंद्र दास और शनि धाम के महंत हरदयाल शास्त्री के साथ मिलकर दहशतगर्दों का पुतला फूंका। जमीयत उलेमा का एक वफद बुध के रोज़ अयोध्या आया था। जमीयत उलेमा 27 फरवरी को बलरामपुर में कौमी युनिटी का प्रोग्राम करने जा रहा है।

इसी प्रोग्राम में अयोध्या के साधु-संतों को भी मदऊ करने के लिए एक वफद अयोध्या आया था। जमीयत के मुफ्ती इलियास के बयान की मुखालिफत भी शुरू हो गया है। फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम मुफ्ती मुकर्रम ने इसे गलत बताया है।

TOPPOPULARRECENT