Friday , January 19 2018

मुरथल गैंग रेप की जाँच में देरी के लिए अदालत ने लिया हरियाणा सरकार को आड़े हाथों

चंडीगढ़: पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय ने आज मुरथल गैंगरेप मामले की जाँच में हो रही देरी के लिए हरियाणा सरकार की खिंचाई की।

हरियाणा सरकार की ओर से उपस्थित वकील ने स्वीकार किया कि फरवरी में जाट कोटा आंदोलन के दौरान मुरथल गैंगरेप हुआ था |
अदालत ने सुनवाई की अगली तारीख 7 जुलाई तय करते हुए प्रकाश सिंह समिति की रिपोर्ट के दूसरे भाग को सरकार के सामने पेश करने के निर्देश दिए हैं ।
हरियाणा सरकार ने अदालत के समक्ष दावा किया है तजा कि सामूहिक बलात्कार की घटनाओं में जो आरोप लगाये गये हैं उसकाकुछ सुबूत मिल गये थे।अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि जाँच का नेतृत्व करने के लिए राज्य को और अधिक समय प्रदान किया जाना चाहिए |

अदालत ने इस मामले में प्रकाश सिंह समिति की रिपोर्ट के दूसरे भाग को पेश करने की मांग की |

सरकारी नौकरियों और शिक्षा के क्षेत्र में आरक्षण के लिए जाट समुदाय द्वारा 10 दिन चले आन्दोलन में कम से कम कम से कम 30 लोगों की मौत हो गई थी और कई करोड़ की संपत्ति का नुकसान हुआ था|

TOPPOPULARRECENT