मुर्शिदाबाद शिक्षक हत्या: परिवार बोला, राजनीतिक संगठन से नहीं था कोई संबंध

मुर्शिदाबाद शिक्षक हत्या: परिवार बोला, राजनीतिक संगठन से नहीं था कोई संबंध

पश्चिम बंगाल पुलिस ने मुर्शिदाबाद के तिहरे हत्याकांड के सिलसिले में शनिवार को दो लोगों को हिरासत में लिया जिसके साथ ही इस मामले में चार लोग हिरासत में लिये गये ।

पुलिस ने बताया कि सीआईडी के अधिकारियों के एक दल ने शनिवार को अपराधस्थल का दौरा किया। एक दिन पहले ही सीआईडी को इस वारदात की जांच करने को कहा गया था। इस तिहरे हत्याकांड ने बृहस्पतिवार को तब राजनीतिक रंग अख्तियार कर लिया जब भाजपा और पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने इन हत्याओं को लेकर ममता बनर्जी सरकार पर प्रहार किया और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने दावा किया कि शिक्षक उसका समर्थक था।

मुर्शिदाबाद जिले के जियागंज में मंगलवार को शिक्षक बंधु प्रकाश पाल (35), उनकी पत्नी ब्यूटी और उनके आठ साल के बेटे आंगन अपने घर में खून से सने और मृत मिले थे। उस दौरान दुर्गा पूजा कार्यक्रम चल रहा था। पुलिस के अनुसार प्रथमदृष्टया साक्ष्य एवं प्रारंभिक जांच इशारा करती है कि यह व्यक्तिगत दुश्मनी का मामला है तथा इसका राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है।

उनके परिवार के सदस्यों ने किसी भी राजनीतिक संगठन से संबंध होने से इनकार किया है। अपराध स्थल से मिले डायरी नोट से परिवार में गंभीर मतभेद का पता चला है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘‘ हमने इस मामले में दो और लोगों को हिरासत में लिया है। कुल चार लोग हिरासत में लिये गये हैं, दो को पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया।’’ पुलिस ने इस घटना के सिलसिले में इस सप्ताह के शुरू में दो व्यक्तियों को हिरासत में लिया था।

Top Stories