Monday , December 11 2017

मुर्सी की बरतरफ़ी मिस्र को सियासी इंतिशार से बचाने की कोशिश

मिस्र के ईसाई पादरी पोप तिवा ज़रविस दोम ने एतराफ़ किया है कि मुल्क के पहले मुंतख़ब इस्लाम पसंद सदर डॉक्टर मुहम्मद मुर्सी के ख़िलाफ़ 30 जून 2013 को शुरू होने वाली अवामी बग़ावत की तहरीक और सदर की माज़ूली में मसीही बिरादरी ने भी भरपूर किरदार अदा

मिस्र के ईसाई पादरी पोप तिवा ज़रविस दोम ने एतराफ़ किया है कि मुल्क के पहले मुंतख़ब इस्लाम पसंद सदर डॉक्टर मुहम्मद मुर्सी के ख़िलाफ़ 30 जून 2013 को शुरू होने वाली अवामी बग़ावत की तहरीक और सदर की माज़ूली में मसीही बिरादरी ने भी भरपूर किरदार अदा किया था।

उन का कहना है कि सदर के ख़िलाफ़ अवामी बग़ावत के बाद मुल्क अफ़रातफ़री के आलम में था, इस लिए उसे तवाइफ़ अल मुल्की से बचाने के लिए इन्क़िलाबीयों का साथ देना ज़रूरी था।

क़िबती पादरी तोज़रोस दोम ने इन ख़्यालात का इज़हार कैनेडीयन अख़बार “जोड न्यूज़ को दिए गए एक इंटरव्यू में किया। ऐसे में जो फ़ैसला मुसल्लह अफ़्वाज करेंगी उसे क़ुबूल कर लिया जाए।

TOPPOPULARRECENT