Saturday , December 16 2017

मुर्सी के हामियों और फ़ौज में तसादुम , 54 हलाक , 435 ज़ख्मी

क़ाहिरा, 9 जुलाई: ( पी टी आई ) मिस्र के माज़ूल सदर मुहम्मद मुर्सी के हामियों और फ़ौज के दरमियान क़ाहिरा के फ़ौजी हैडक्वार्टर्स पर हुई घमासान लड़ाई में आज कम से कम 54 अफ़राद हलाक और दीगर सैंकड़ों ज़ख़्मी हो गए । इस दौरान फ़ौज की ताईद याफ्ता नई उबूर

क़ाहिरा, 9 जुलाई: ( पी टी आई ) मिस्र के माज़ूल सदर मुहम्मद मुर्सी के हामियों और फ़ौज के दरमियान क़ाहिरा के फ़ौजी हैडक्वार्टर्स पर हुई घमासान लड़ाई में आज कम से कम 54 अफ़राद हलाक और दीगर सैंकड़ों ज़ख़्मी हो गए । इस दौरान फ़ौज की ताईद याफ्ता नई उबूरी हुकूमत और इख़वान अलमुस्लिमीन के माबेन रसा कुशी में इज़ाफ़ा हो गया है।

वज़ारत-ए-सेहत ने कहा कि रिपब्लिकन गार्ड के हैडक्वार्टर्सपर मुर्सी के हामियों और फ़ौज के दरमियान घमासान तसादुम में कम से कम 54 अफ़राद हलाक और दीगर 435 ज़ख़मी हो गए । सरकारी ख़बररसां इदारा मीना ने ख़बर दी है कि फ़ौज ने 200 से ज़ाइद मुसल्लह हमलावरों को गिरफ़्तार कर लिया है जो बंदूकों , धमाको अशीया और दस्ती बमों से लैस थे ।

रिपब्लिकन गार्डस के हेडक्वार्टर्स पर घमासान झड़पें हुईं जहां बावर किया जाता है कि 61 साला माज़ूल सदर मुर्सी को महरूस रखा गया है । फ़ौज ने यहां जारी करदा अपने सहाफ़ती बयान में कहा कि एक मुस्लिम दहशतगर्द ग्रुप ने रिपब्लिकन गार्ड के अहाता में ज़बरदस्ती घुसने की कोशिश की लेकिन वहां तैनात सिपाहियों ने इस कोशिश को नाकाम बना दिया ।

अख़बारी इतेलाआत में कहा गया कि अदालती अहकाम के मुताबिक़ इख़वान अलमुस्लिमीन की सियासी तंज़ीम फ्रीडम एंड जस्टिस पार्टी के हेडक्वार्टर्स को मुहरबंद कर दिया गया जब पुलिस को इस इमारत से अस्लाह दस्तयाब हुए। मुर्सी को चहारशंबा के रोज़ एक ताक़तवर फ़ौजी बग़ावत के ज़रीया इक्तेदार से बेदखल कर दिया गया था और उन्हें इख़वान अलमुस्लिमीन के चंद सीनीयर रफ़क़ा के साथ रिपब्लिकन गार्डस् के हेडक्वारटर्स् में महरूस रखा गया है ।

इस इक़दाम पर बरहम फ्रीडम एंड जस्टिस पार्टी ने इन्क़िलाब की रूह को मसख़ करने वाले अनासिर के ख़िलाफ़ मुहिम चलाने अज़ीम मिस्री अवाम से अपील की थी । इस जमाअत ने दुनिया भर के तमाम आज़ाद अफ़राद , बैनुल अक़वामी बिरादरी और बैनुल अक़वामी तनज़ीमों से अपील की कि वो मिस्र को एक नया शाम बनने से रोकने और क़त्ल-ए-आम का सिलसिला बंद करने के लिए मुदाख़िलत करें ।

जुमा को मुर्सी के हामियों के एहतिजाज के नतीजा में कम से कम 6 अफ़राद हलाक और दीगर 1000 ज़ख़्मी हो गए थे जिस के बाद फ़ौज ने क़ाहिरा और दीगर मुक़ामात पर अपनी भारी जमीअतों को तैनात कर दिया है । माज़ूल सदर के हामियों और मुख़ालिफ़ीन के माबेन मिस्र के दारुल हकूमत और दीगर कई शहरों में झड़पें हुई हैं।

दोनों ग्रुप्स माज़ूल लीडर की ताईद-ओ-मुख़ालिफ़त में मुज़ाहिरे कर रहे हैं । इख़वान अलमुस्लिमीन ने चंद दीगर तनज़ीमों से इत्तेहाद के साथ माज़ूल सदर की हिमायत में मज़ीद मुज़ाहिरे करने का ऐलान किया है।

TOPPOPULARRECENT