Monday , December 18 2017

मुलायम ने सोनिया-राहुल को लगाया बिजली का करंट

लखनऊ, 13 अप्रैल: समाजवादी पार्टी के सरबराह मुलायम सिंह यादव और कांग्रेस सदर सोनिया गांधी के रिश्‍तों में आयी खटास अब सामने उभर कर आने लगी है। इसकी मिसाल वो बिजली का करंट है, जो मुलायम ने सोनिया और राहुल गांधी को लगाया है।

लखनऊ, 13 अप्रैल: समाजवादी पार्टी के सरबराह मुलायम सिंह यादव और कांग्रेस सदर सोनिया गांधी के रिश्‍तों में आयी खटास अब सामने उभर कर आने लगी है। इसकी मिसाल वो बिजली का करंट है, जो मुलायम ने सोनिया और राहुल गांधी को लगाया है।

यह झटका है रायबरेली और अमेठी को दी जाने वाली बिजली सप्‍लाई का, जिसमें भारी कटौती की गई है। मुलायम के फरज़ंद व वज़ीर ए अला अखिलेश यादव ने जुमेरात को खुसुसी हुक्म करते हुए रायबरेली और अमेठी से बिजली सप्‍लाई के मामले में वीवीआई शहर का दर्जा छीन लिया।

अभी तक इन दोनों शहरों को 24 घंटे बिजली मिलती थी। लेकिन अब इसे घटाकर 10 से 12 घंटे कर दिया गया है। यही नहीं अगर बिजली कम पैदा हुई, तो इसमें भी कटौती की जा सकती है।

वैसे अखिलेश यादव ने यह फैसला तब लिया जब बीजेपी ने सपा हुकूमत पर बिजली के सियासतबाज़ी का इल्ज़ाम लगाया। बीजेपी ने सिर्फ चार दिन पहले इल्ज़ाम लगाया था कि समाजवादी पार्टी हुक्कुमत कांग्रेस व सपा के पार्लीमानी इलाके के अलावा बाकी सभी इलाको के साथ सौतेला रवैया अपना रही है।

वहीं महकमा बिजली ने भी जब रिपोर्ट दी तो वज़ीर ए आला ने सभी शहरों को बराबर से बिजली सप्‍लाई करने की बात कही। हालांकि अभी भी कुछ शहरों को वीवीआईपी दर्जा जारी रहेगा। इनमें लखनऊ, नोएडा, गाजियाबाद, मैनपुरी, कन्‍नौज, इटावा, वगैरह अहम व खास हैं। सच पूछिए तो बिजली का यह झटका राहुल गांधी और सोनिया गांधी को है, क्‍योंकि इस बार समाजवादी पार्टी हुकूमत ने सीधे उनके पार्लीमानी इलाके पर दस्तक दी है। खास बात यह है कि सोनिया, राहुल हर बार आते हैं और यहां नए प्रोजेक्ट लगाने का वादा करते हैं।

वादा पूरे करते हुए उन्‍होंने नए प्रोजेक्टों शुरू भी किए हैं, लेकिन अब बिजली की फरहमी 24 घंटे नहीं हो पाने के सबब दिक्‍कते आ सकती है।

—————–बशुक्रिया: वन इंडिया

TOPPOPULARRECENT