Friday , December 15 2017

मुल्क की हिफाज़त करेंगे रोबोट

नई दिल्ली, 12 जून: मुल्क के दुश्मनो होशियार हो जाओ । हिंदुस्तान की रोबोट सेना अब सरहदों की हिफाजत के लिए तैयार हो रही है। डीआरडीओ ने रोबोट आर्मी को तैयार करने के काम में तेजी से जुटा हुआ है। बकौल डीआरडीओ चीफ अविनाश चंदर, बहुत जल्द रो

नई दिल्ली, 12 जून: मुल्क के दुश्मनो होशियार हो जाओ । हिंदुस्तान की रोबोट सेना अब सरहदों की हिफाजत के लिए तैयार हो रही है। डीआरडीओ ने रोबोट आर्मी को तैयार करने के काम में तेजी से जुटा हुआ है। बकौल डीआरडीओ चीफ अविनाश चंदर, बहुत जल्द रोबोट फौज मुल्क की हिफाज़त करते नजर आ सकते हैं। मुस्तकबिल की जंग में इनका अहम किरदार होगा। उनका कहना है कि मुस्तकबिल की जंगी जरूरतों के मद्देनजर मशीनी लड़ाकों को तैयार करना हमारी तरजीह में शामिल है। डीआरडीओ के इस प्रोग्राम से हिंदुस्तान भी उन चुनिंदा मुल्कों में शामिल हो जाएगा, जो रोबोट फौज तैयार कर रहे हैं।

सहाफियों से बातचीत करते हुए डीआरडीओ चीफ ने यह इत्तेला दी। अविनाश चंदर ने बताया, हम आली दानिश्वराना सलाहियत (High intellectual ability) वाले ऐसे रोबोट फौज तैयार कर रहे हैं जो दोस्त और दुश्मन के बीच फर्क करने में काबिल रहेंगे। ये सरहदों पर भी तैनात होंगे।

उन्होंने कहा कि शुरू में तो रोबोट फौज को दोस्त-दुश्मन का फर्क बताना पड़ेगा, लेकिन बाद में इन्हें इस काबिल बना दिया जाएगा ताकि जंग के मैदान में ये सामने से मोर्चे संभाले और पीछे हमारे फौजी इनकी मदद के लिए तैनात रहें। अविनाश चंदर के मुताबिक मुस्तकबिल में बगैर पायलेट ( इंसान) की लड़ाइयां होंगी और जिसकी तकनीक जितनी आली दर्जे की होगी, वही जंग में फतह हासिल करेगा ।

डीआरडीओ चीफ का कहना है कि आज भी रोबोट का इस्तेमाल बम को नाकारा करने और ताबकारी मुतास्सिर इलाको में मुहिम चलाने के लिए होता है।

TOPPOPULARRECENT